Thursday, Jan 20, 2022
-->
punjab haryana farmers protest in delhi against new farm laws kmbsnt

किसान आंदोलन: आज पंजाब- हरियाणा से बड़ी संख्या में दिल्ली कूच की तैयारी

  • Updated on 12/2/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कृषि कानूनों (Farm Bill) के विरोध में किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) लगातार जारी है। दिल्ली के बॉर्डर को किसानों ने जाम किया हुआ है। वहीं आज पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) से भी बड़ी संख्या में किसान दिल्ली आने की तैयारी में है। मंगलवार को सरकार और किसानों के बीच हुई बातचीत बेनतीजा रही। 

किसान अपनी मांगों पर अड़े हैं। आज इस मामले पर एक बार फिर से बातचीत होगी। सरकार किसानों को समझाने की पूरी कोशिश कर रही है, लेकिन सरकार की किसी भी बात का असर किसानों पर होता नजर नहीं आ रहा है।  किसानों ने सरकार की ओर से पेश किए गए इन कानूनों की समीक्षा के लिए कमेटी बनाने के प्रस्ताव को खारिज करने के साथ ही साफ कर दिया है कि सरकार पहले इन तीनों कानूनों को रद्द करें।

नहीं बनी सहमति! सरकार और किसान प्रतिनिधि फिर से 3 दिसंबर को करेंगे चर्चा

सभी किसान संगठनों की मौजूदगी में बातचीत की मांग
इसके साथ ही किसानों की मांग है कि देश के सभी किसान संगठनों की मौजूदगी में इस मसले पर बातची हो। किसानों का कहना है कि आंदोलन तभी खत्म होगा जब कानूनों को वापस लिया जाएगा। आज यानी बुधवार को पंजाब और हरियाणा से बड़ी संख्या में ट्रैक्टरों में सामान लादकर किसान दिल्ली के लिए रवाना होंगे। पंचायतों की अपील पर लोग किसानों की मदद के लिए राशन, दवाइयां और अन्य सामान दान कर रहे हैं।

पंचायतों ने किसान परिवारों से की ये अपील
ये सभी सामान ट्रैक्टर में भरकर किसानों के साथ दिल्ली आएगा। ताकि लंबे समय तक आंदोलन करने में किसानों को किसी भी दिक्कत का सामना न करना पड़े। पंचायतों ने अपील की है कि हर किसान परिवार का एक सदस्य दिल्ली जाए जिससे कृषि बिलों के खिलाफ इस लड़ाई में किसानों का हौंसला बढ़ाया जा सके। 

किसान क्यों चाहते हैं MSP पर लिखित गारंटी? जानिए क्या है विरोध का बड़ा कारण…

खिलाड़ी भी किसानों के समर्थन में
किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली बॉर्डर पर फोर्स बढ़ाई जा रही है। वहीं किसान संगठन भी अब सक्रिय हो गए हैं और अधिक से अधिक किसानों को आंदोलन में शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर पंजाब के नामी खिलाड़ी भी अब किसानों के समर्थम में आ गए हैं। जल्लांधर के कई नामी खिलाड़ियों ने किसानों का समर्थन करते हुए कहा है कि 5 दिन के भीतर अगर सरकार ये कृषि कानून वापस नहीं लेती तो अपने मेडल सरकार को लौटा देंगे। 

ये भी पढ़ें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.