क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर को पंजाब सरकार की तरफ से बड़ा झटका, छीना पद

  • Updated on 7/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय महिला क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर को बड़ा झटका लगा है। फर्जी डिग्री मामले में पंजाब सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हरमनप्रीत से डीएसपी पद वापस ले लिया है। सूत्रों के अनुसार स्नातक ना होने के बाद उन्हें पंजाब पुलिस में कॉन्स्टेबल की नौकरी मिल सकती है।

बता दें कि, महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप में खेले गए उनके शानदार पारी के चलते और प्रदेश का नाम रोशन करने की खुशी में पंजाब सरकार ने उन्हें डीएसपी के पद से नवाजा था। इससे पहले हरमनप्रीत को रेलवे में भी जॉब मिली थी लेकिन रेलवे में उनके 5 साल का बांड पूरा ना होने पर उन्हें पंजाब पुलिस में सेवा देने में दिक्कतें आ रही थी।

FIFA WC: फ्रांस और बेल्जियम के बीच होगी फाइनल में जगह बनाने की लड़ाई

उस समय पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीयूष गोयल को खत लिख कर हरमनप्रीत के बांड को रद्द करने की भी बात कही थी। जिसके बाद पंजाब के मोगा की रहने वाली हरमनप्रीत कौर को 1 मार्च 2018 को मुख्यमंत्री कैप्टन ने पंजाब पुलिस में डीएसपी का पद दिया था, लेकिन अब उनका यही पद उनके लिए दिक्कतें खड़ी कर रहा है।

पंजाब पुलिस ने सत्यापन के लिए उनकी स्नातक की डिग्री चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में भेजी थी लेकिन वहां उनको हरमनप्रीत का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। जांच के बाद उनकी बीए फाइनल की मार्कशीट फर्जी पाई गई है। उनकी मार्कशीट का वहां कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। उन्होंने बताया कि जांच में पाया गया कि मार्कशीट में अंकित अनुक्रमांक और नामांकन संख्या हमारे रिकॉर्ड में उपलब्ध नहीं हैं।

पंजाबः ASI को मंत्री के पैर छूना पड़ा भारी, किए गए सस्पेंड

डिग्री फर्जी होने के बाद पंजाब पुलिस ने हरमनप्रीत को चिट्ठी लिखकर कहा कि, आपकी शिक्षा मात्र 12वीं तक ही पाई गई ​है ​इसलिए आपको सिर्फ कॉन्स्टेबल का पद दिया जा सकता है। सीएम कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि, डीएसपी की रैंक के लिए हरमनप्रीत कौर की शैक्षिक योग्यता काफी नहीं है इसलिए उन्हें यह पद नहीं दिया जा सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.