Monday, Jan 27, 2020
punjabi folk lor lori messages song

पंजाबी लोक-गीत और भांगड़ा के बगैर अधूरा है लोहड़ी का त्यौहार

  • Updated on 1/13/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जब लोहड़ी (Lohri) की बात होती है तो सबसे पहले ख्याल पंजाबियों की शान उनके भांगड़े की बात होती है इस दिन लोग अग्नि के चारों तरफ चक्कर लगा कर भांगड़ा करते हैं और लोक-गीत गाते हैं। अगर बात पंजाब (Punjab) की लोहड़ी की कि जाए तो इस दिन वह अपनी पूरी पारंपरिक वेषभूषा पहन के लोहड़ी के त्यौहार में चार चांद लगा देते हैं।

इन चीजों के बगैर अधूरा है लोहड़ी का त्यौहार
पंजाबियों की शान और उनका यह विशेष त्योहार लोहड़ी बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। लोहड़ी का त्यौहार ढोल, नाच गाना,  विशेष पकवान और उनके पारंपरिक लोक-गीतों के बगैर अधूरा होता है।

पंजाब में धूम-धाम से लोहड़ी का त्योहार मनाते हैं लोग
लोहड़ी के त्यौहार के दिन पंजाब में रबि की फसल काटकर लोग घर में लाते हैं और इस फसल के कटने का जश्न मनाते हैं। यह त्यौहार सर्दियों की विदाई का त्यौहार भी माना जाता है। लोहड़ी के त्यौहार पौष मास की अंतिम रात को मकर संक्रांति की सुबह तक मनाया जाता है। लोहड़ी में कहा जाता है कि इस दिन वर्ष की सबसे लंबी अंतिम रात होती है उसके अगले दिन से धीरे-धीरे दिन बढ़ने लगते हैं यह किसानों के लिए एक उल्लास का समय होता है।

लोहड़ी आई – लोहड़ी आई
सर्दी खत्म होने को आई
दिन बड़े होने की ख़ुशी में
सब ने मिलकर लोहड़ी मनाई

 

लोहड़ी आई लोहड़ी आई
मिलकर हम सब
एक दूजे को दे बधाई
जात-पात का भेद मिटाकर
मिलकर हम सब ने ढांड जलाई

मूंगफली रेवड़ी अग्नि में डालकर
लोहड़ी के गीतों से
इस त्योहार की शोभा बढाई



कुछ दिन पहले से बच्चों ने
घर घर जाकर लोहड़ी मांगी
दे नी माएं लोहड़ी
तेरे द्वारे सारी टोली है आई
दे नी माएं लोहड़ी
तेरे द्वारे सारी टोली है आई
लोहड़ी आई- लोहड़ी आई
सबने इसे दिल से मनाई

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.