राबिया स्कूल मामले में केजरीवाल सरकार के साथ दिल्ली महिला आयोग भी सक्रिय

  • Updated on 7/11/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के बल्लीमारन स्थित राबिया पब्लिक स्कूल मामले में अब प्रदेश की केजरीवाल सरकार के बाद दिल्ली महिला आयोग भी सक्रिय हो गया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल स्कूल की फीस नहीं जमा करने पर बच्चों को बेसमेंट में बंदी बनाकर रखने को गंभीरता से लिया है। इस संबंध में आयोग ने दिल्ली पुलिस और दिल्ली के शिक्षा विभाग को नोटिस जारी किया है। 

दिल्ली : पहले छिपकली मिली, अब मिड डे मील खाने से बीमार हुए 26 बच्चे

 

कोर्ट ने चिदंबरम-कार्ति को दी राहत, नलिनी चिदंबरम को झटका

इससे पहले उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस मामले में सूचित किया था कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए रिपोर्ट तलब की है। इस संबंध में उन्होंने शिक्षा विभाग के सचिव और डायरेक्टर से भी बात की है। यह मामला बंधक बनाए गए बच्चों के अभिभावकों के विरोध के बाद तूल पकड़ गया। 

समलैंगिकता केस : SC में पेश नहीं होंगे अटार्नी जनरल, स्वामी ने जाहिर की अपनी राय

येचुरी ने बताया- कब बनेगा BJP के खिलाफ वैकल्पिक गठबंधन?

मामला कल का है, जब नर्सरी में पढ़ने मासूम बच्चों को स्कूल प्रशासन ने फीस जमा नहीं करने की सूरत में उनके हवाले करने से मना कर दिया। इसके बाद अभिभावकों ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए इसकी शिकायत पुलिस और दिल्ली सरकार के विधायकों को की। 

उत्तर भारत में उमस भरी गर्मी से नहीं मिलेगी फिलहाल राहत, करना होगा इंतजार

सरकार के हरकत में आते ही स्कूल प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए और उन्होंने फौरन बच्चों को रिहा कर दिया। आज जब यह मामला जनता के बीच उजागर हुआ तो मीडिया में सुर्खियां बटोरने लगा। इसके बाद केजरीवाल सरकार और महिला आयोग ने भी इसे गंभीरता से लिया और मामले की जांच में सक्रियता दिखाई। 

कांग्रेस ने BJP से पूछा- क्या 'आयुष्मान भारत' भी बन गया है एक 'जुमला'

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.