Monday, Jan 21, 2019

कांग्रेस का आरोप- HAL को लेकर रक्षामंत्री सीतारमण ने बोला झूठ

  • Updated on 1/6/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राफेल डील को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर कांग्रेस ने अब रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण को भी निशाना बनाना शुरु कर दिया है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सरकारी कंपनी HAL को लेकर रक्षामंत्री झूठ बोल रही हैं। 

मनु भाकर ने हरियाणा के खेल मंत्री को याद दिलाया वादा, भड़क गए अनिल विज

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'रक्षा मंत्री का झूठ बेनकाब हो गया है। रक्षामंत्री ने दावा किया था कि एक लाख करोड़ रुपये का प्रोक्योरमेंट ऑर्डर एचएएल को दिया गया है। लेकिन, एचएएल ने कहा है कि एक पैसा भी उसे नहीं मिला है, जैसा कि एक सौदा भी उसके साथ नहीं हुआ है। इस वजह से एचएएल सैलरी देने को लिए 1000 करोड़ रुपये का लोन लेने के लिए मजबूर होना पड़ा है।'

कांग्रेस बोली- PM मोदी को बचाने के लिए उनके मंत्री बोल रहे हैं लगातार झूठ

बता दें कि कल भी कांग्रेस ने राफेल मामले को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला। पार्टी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री को बचाने के लिए उनके मंत्री लगातार झूठ बोल रहे हैं। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने संवाददाताओं से कहा, 'प्रधानमंत्री को बचाने के लिए उनके मंत्री लगातार झूठ बोल रहे हैं, यहां तक कि संसद में झूठ बोला जा रहा है।'

पासवान को नहीं भा रहे हैं तीन तलाक, राम मंदिर जैसे BJP के चहेते मुद्दे

अनिल अंबानी को लेकर पीएम मोदी पर जमकर तीर चला रही है कांग्रेस

उन्होंने कहा, 'रक्षा मंत्री ने पहला झूठ यह बोला कि दसाल्ट और एचएएल के बीच कोई करार नहीं हुआ। मुझे नहीं लगता कि उनको इस बारे में नहीं पता होगा।' उन्होंने कहा, 'सीतारमण का दूसरा झूठ यह है कि उन्हें ज्ञान ही नहीं है कि दसाल्ट का ऑफसेट साझेदार कौन है।'

रॉबर्ट वड्रा से पहले उनके करीबियों की बढ़ी मुश्किलें, वारंट के लिए कोर्ट में ED

खेड़ा ने कहा, 'एक और झूठ बोला गया कि 526 करोड़ रु का विमान खरीदा जा रहा था उसके साथ हथियार नहीं थे। जबकि सच्चाई यह है कि वे यही विमान है जिन्हें अब खरीदा जा रहा है।' पार्टी प्रवक्ता ने कहा, 'अगर ये विमान नहीं हैं तो फिर मोदी जी जवाब देना चाहिए कि क्या वायुसेना को दिखाए बिना यह खरीद की जा रही है।'

अखिलेश यादव की बढ़ेंगी मुश्किलें, अवैध रेत खनन मामले में CBI सक्रिय

लोकपाल नियुक्ति : नाराज सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार से मांगा हलफनामा

उन्होंने कहा, 'तत्कालीन विदेश सचिव एस जयशंकर को पीएम मोदी के पेरिस दौरे से 48 घंटे पहले तक मालूम नहीं था कि इस दौरे पर पीएम मोदी राफेल पर बातचीत करेंगे।' खेड़ा ने कहा, 'आज HAL को अपने कर्मचारियों को वेतन देने के लिए 1000 करोड़ रुपए का कर्ज लेना पड़ रहा है। क्या यही 'मेक इन इंडिया' है?'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.