Friday, Nov 27, 2020

Live Updates: Unlock 6- Day 27

Last Updated: Thu Nov 26 2020 09:22 PM

corona virus

Total Cases

9,291,068

Recovered

8,700,681

Deaths

135,533

  • INDIA9,291,068
  • MAHARASTRA1,795,959
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA878,055
  • TAMIL NADU768,340
  • KERALA578,364
  • NEW DELHI551,262
  • UTTAR PRADESH533,355
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA315,271
  • TELANGANA263,526
  • RAJASTHAN240,676
  • BIHAR230,247
  • CHHATTISGARH221,688
  • HARYANA215,021
  • ASSAM211,427
  • GUJARAT201,949
  • MADHYA PRADESH188,018
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB145,667
  • JHARKHAND104,940
  • JAMMU & KASHMIR104,715
  • UTTARAKHAND70,790
  • GOA45,389
  • PUDUCHERRY36,000
  • HIMACHAL PRADESH33,700
  • TRIPURA32,412
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,269
  • NAGALAND10,674
  • LADAKH7,866
  • SIKKIM4,691
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,631
  • MIZORAM3,647
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,312
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
raghuram rajan said modi government failed to help the public with immediate money albsnt

रघुराम राजन ने कहा- आमजनों को फौरी तौर पर पैसे की मदद करने में मोदी सरकार रही नाकाम

  • Updated on 5/21/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र सरकार के आर्थिक राहत पैकेज पर सवाल न सिर्फ देश के विपक्षी दलों ने उठाया है बल्कि आमजनों से लेकर अब पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने सीधे तौर पर कहा कि सरकार दूरगामी नुकसान को देखते हुए राहत पैकेज की घोषणा की है। जबकि लोगों को तात्कालिक सुविधा की फौरन आवश्यकता है। मसलन प्रवासी मजदूरों को सामान्य जिंदगी जीने के लिये दूध, सब्जी, खाद्य तेल खरीदने और किराया चुकाने के लिए सरकार की तरफ टकटकी भरी निगाहों से देख रही थी। लेकिन सबको निराशा ही हाथ लगी है।

चंद्रशेखर ने अलका से की मायावती से माफी मांगने की बात, कांग्रेस नेता बोलीं- नहीं हूं सावरकर

उन्होंने कहा कि पिछले 2 महीनों से लोग बेरोजगार हो गए है। उन्हें सिर्फ अन्न सुविधा नहीं चाहिये थी,बल्कि पैसे की मदद सबसे ज्यादा थी। ताकि वे रोजमर्रा की जिंदगी के जरुरतों को पूरा कर सकें। लेकिन अफसोस की बात है कि मौजूदा सरकार लोगों के इस जरुरत से आंखें मूंद ली है। उन्होंने खुले तौर पर कहा कि लोगों को पैसे की सहायता राशि मिलती तो ज्यादा अच्छा होता।

देश में Corona पॉजिटिव के रिकवरी रेट में सुधार जारी, 40 फीसदी को किया पार 

उन्होंने कहा कि हालांकि पूरी दनिया फिलहाल आर्थिक मंदी से जूझने के लिये मजबूर है। भारत में भी राजकोषीय घाटा बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार को सुझाव दिया कि विपक्षी पार्टियों से भी सुझाव लेकर संकटकाल से उबरने में मदद मांगी जा सकती है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को 500-500 रुपये मदद को नाकाफी बताया। उन्होंने कहा कि देश के कमजोर तबके समेत मध्यमवर्ग पर भी भारी दवाब है,जिसे सरकार को समझने की आवश्यकता है।

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.