Wednesday, Feb 19, 2020
rahul gandhi and priyanka gandhi will go human right commission

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी संग वरिष्ठ नेता जाएंगे मानवाधिकार आयोग

  • Updated on 1/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) सोमवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग पहुंचे। आयोग के सौंपे एक ज्ञापन में उन्होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के दौरान राज्य सरकार और पुलिस द्वारा प्रदर्शनकारियों पर अत्याचार किया जा रहा है।

उन्होंने आयोग से निर्णायक कार्रवाई की मांग की। आयोग के समक्ष 31 पृष्ठों के प्रतिवेदन के साथ राहुल-प्रियंका ने सबूत के तौर पर कुछ वीडियो और फोटो भी सौंपे हैं। आयोग से निकलने के बाद राहुल ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने उत्तर प्रदेश के नागरिकों के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा अत्याचारों के सबूत मानवाधिकार आयोग को सौंपा। 

मोदी की लोकप्रियता कायम, दिल्ली में CM की रेस में केजरीवाल आगे

23 प्रदर्शनकारी की मौत
राज्य सरकार (State Government) ने अपने ही लोगों के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया है। मानवाधिकार आयोग आइडिया ऑफ इंडिया और नागरिकों के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा के लिए निर्णायक ढंग से कार्रवाई करनी चाहिए। वहीं आयोग के पदाधिकारियों के साथ कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात के बाद 

पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Manu Singhvi) ने संवाददाताओं से कहा कि आयोग ने सबूतों पर विचार करने और आगे कदम उठाने का आश्वासन दिया है। सिंघवी ने बताया कि प्रतिवेदन में 9 बिंदु पर हमने आयोग का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने कहा कि राज्य में प्रदर्शन के दौरान हुई पुलिस कार्रवाई में 23 प्रदर्शनकारियों की मौत हुई है। इस मामले में अब तक किसी भी पुलिसकर्मी के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। प्रतिवेदन में उन मौतों की विस्तृत जानकारी के साथ फोटो और वीडियो भी दिया गया है।

PM मोदी आज तीन कार्यक्रमों में होंगे शामिल, दिल्ली में NCC रैली तो नागपुर में है रेलमार्ग का शुभारंभ

राहुल और प्रियंका गांधी के साथ वरिष्ठ नेता भी जाएंगे
उन्होंने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की भाजपा सरकार (BJP Government) अपने ही नागरिकों के साथ अपराधियों की तरह व्यवहार करती है। आयोग को वे सैकड़ों नोटिस भी दिए हैं, जिसमें प्रशासन द्वारा धारा 144 का खौफ दिखा कर कार्रवाई करने और जेल में डाल देने की धमकी दी गई है। प्रतिनिधिमंडल में राहुल और प्रियंका के साथ पार्टी के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी, मोहसिना किदवई, सलमान खुर्शीद, जितिन प्रसाद, राजीव शुक्ला और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.