Thursday, Jun 17, 2021
-->
rahul gandhi asked how long will bear cruelty of bjp modi govt in corona epidemic rkdsnt

राहुल गांधी ने पूछा- महामारी में केंद्र सरकार की क्रूरता को हमारे देशवासी कब तक झेलेंगे?

  • Updated on 5/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना संकट को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के हमले लगातार जारी हैं। मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा है कि महामारी में केंद्र सरकार की क्रूरता को हमारे देशवासी कब तक सहन करेंगे। इस संकट के लिए जिम्मेदार लोग कहां हैं।

AMU में एक और प्रोफेसर की कोरोना से मौत, CM योगी ने कुलपति से की वार्ता

अपने ट्वीट में राहुल ने लिखा है, 'बार-बार दुखद समाचार आते जा रहे हैं। बुनियादी समस्याएँ अभी तक सुलझाई नहीं गयी हैं। इस महामारी में केंद्र सरकार की क्रूरता को हमारे देशवासी कब तक झेलेंगे? जिनकी जवाबदेही है, वे कहीं छुपे बैठे हैं।'

अपने दूसरे ट्वीट में वह लिखते हैं, 'सकारात्मक सोच की झूठी तसल्ली स्वास्थ्य कर्मचारियों व उन परिवारों के साथ मज़ाक़ है, जिन्होंने अपनों को खोया है और ऑक्सीजन-अस्पताल-दवा की कमी झेल रहे हैं। रेत में सर डालना सकारात्मक नहीं, देशवासियों के साथ धोखा है।'

वैक्सीन को लेकर केजरीवाल सरकार ने भाजपा पर लगाया राज्यों को आपस में लड़ाने का आरोप

नदियों में मिलने वाले शवों को लेकर वह कहते हैं, 'नदियों में बहते अनगिनत शव, अस्पतालों में लाइनें मीलों तक, जीवन सुरक्षा का छीना हक़! PM, वो गुलाबी चश्में उतारो जिससे सेंट्रल विस्टा के सिवा कुछ दिखता ही नहीं।'

जरूरी चिकित्सा उपकरणों से जीएसटी हटाई जाए
उधर कांग्रेस ने बुधवार को केंद्र सरकार पर ‘आपदा में अवसर वाली सरकार’ होने का आरोप लगाया और कहा कि उसे अपना राजधर्म निभाते हुए कोरोना महामारी से निपटने के लिए जरूरी चिकित्सा उपकरणों को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे से मुक्त करना चाहिए। पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने यह दावा भी किया कि अगर टीकों, ऑक्सीजन सांद्रक और रेमडेसिविर इंजेक्शन से जीएसटी हटा ली जाए तो जनता एवं राज्य सरकारों को 6000 करोड़ रुपये का सालाना फायदा होगा। 

बायोकॉन की किरण मजूमदार ने कोरोना रोधी वैक्सीन की कमी पर उठाए सवाल

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘टीके पर पांच फीसदी पर जीएसटी ली जा रही है। यह सरकार रेमडेसिविर इंजेक्शन पर 12 फीसदी और ऑक्सीजन सांद्रक पर 12 फीसदी की जीएसटी वसूल रही है। वेंटिलेटर, मेडिकल ऑक्सीजन पर भी 12 फीसदी तथा एंबुलेंस पर 28 फीसदी की जीएसटी ली जा रही है।’’ वल्लभ ने कहा, ‘‘यह सरकार ‘आपदा में अवसर वाली सरकार’ है। मेरा सरकार से कहना है कि वह इतनी बेरहम नहीं बने। वह सकारात्मकता का प्रसार करने की बात करती है, लेकिन जीएसटी वसूल रही है। क्या देश के लोगों ने आप (सरकार) पर विश्वास जताकर पाप कर दिया कि उनके साथ आप यह व्यवहार कर रहे हैं?’’ 

यूपी में थाई गर्ल प्रकरण को लेकर कानूनी सलाह ले रहे हैं सपा नेता आईपी सिंह

उन्होंने दावा किया, ‘‘टीके, रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन सांद्रक से जीएसटी हटा दी जाए तो देश के लोगों को 6000 करोड़ रुपये का फायदा होगा। इन 6000 करोड़ रुपये से 12 लाख ऑक्सीजन सांद्रक खरीदे जा सकते हैं। इतने पैसे में 20 करोड़ लोगों को टीके लगाये जा सकते हैं। इतने पैसे से छह नए एम्स खोले जा सकते हैं।’’ कांग्रेस प्रवक्ता ने सरकार से आग्रह किया, ‘‘सरकार अपना राजधर्म निभाए और जरूरी चिकित्सा उपकरणों से जीएसटी हटाए।’’ 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.