Monday, Dec 06, 2021
-->
rahul gandhi attacked modi bjp govt during kheti bachao yatra in punjab rkdsnt

पंजाब में खेती बचाओ यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर बोला हमला

  • Updated on 10/4/2020

 


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस नेता राहुल गांधी केंद्र द्वारा लागू नये कृषि कानूनों के खिलाफ मोगा में रविवार को आयोजित ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व किया। राहुल गांधी रविवार दोपहर मोगा पहुंचे। वह तीन दिवसीय ट्रैक्टर रैलियों का नेतृत्व कर रहे हैं और केंद्र की मोदी सरकार को जमकर आड़े हाथ ले रहे हैं। मोगा के बदनी कलां में उन्होंने जनसभा को भी संबोधित किया। इसके साथ ही राहुल ने सोशल मीडिया पर भी अपने विचार जाहिर किए हैं। 

बिहार चुनाव से पहले LJP ने दिया NDA को झटका, नीतीश कुमार निशाने पर

अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, '#KhetiBachaoYatra के पहले दिन पंजाब के किसान बहन-भाइयों से मिलकर एक नयी ऊर्जा का एहसास हुआ। आज मोदी सरकार देश के अन्नदाता के मुँह से रोटी और पैरों से ज़मीन छीनने पर तुली है। लेकिन आप अकेले नहीं हैं। मैं आपके हक़ की लड़ाई में हमेशा आपका साथ देने का वादा करता हूँ।'

राहुल गांधी बोले - हाथरस कांड का सच छिपाने के लिए दरिंदगी पर उतरी योगी सरकार

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, कांग्रेस महासचिव एवं पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल और अन्य नेता भी रैली में शामिल होने के लिए मोगा पहुंचे। राज्य के पूर्व मंत्री और विधायक नवजोत सिंह सिद्धू भी मोगा में हैं, जो पिछले कुछ समय से कांग्रेस की सभी गतविधियों से दूरी बनाकर चल रहे थे। 

हाथरस सामूहिक बलात्कार : केजरीवाल ने यूपी की योगी सरकार को लिया आड़े हाथ

ट्रैक्टर रैली का नेतृत्व करने पंजाब पहुंचे राहुल गांधी 
‘खेती बचाओ यात्रा’ के नाम से निकाली जा रही ट्रैक्टर रैलियां करीब 50 किलोमीटर से अधिक दूरी तय करेगी और विभिन्न जिलों तथा निर्वाचन क्षेत्रों से गुजरेंगी।       उल्लेखनीय है कि नये कृषि कानूनों का पंजाब के किसान विरोध कर रहे हैं। किसानों को आशंका है कि केंद्र द्वारा किए जा रहे कृषि सुधार से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को समाप्त करने का रास्ता साफ होगा और वे बड़ी कंपनियों की ‘दया’ पर आश्रित रह जाएंगे। हालांकि, सरकार का कहना है कि एमएसपी प्रणाली में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। 

 हाथरस घटना पर कांग्रेस का सियासी संग्राम, हाईकोर्ट ने भी लिया संज्ञान

गौरतलब है कि संसद ने हाल में तीन विधेयकों- ‘कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक-2020’, ‘किसान (सशक्तीकरण और संरक्षण) मूल्य आश्वासन’ अनुबंध एवं कृषि सेवाएं विधेयक 2020 और ‘आवश्यक वस्तु संशोधन विधेयक-2020’ को पारित किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी के बाद तीनों कानून 27 सितंबर से प्रभावी हो गए।  

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.