Tuesday, Jan 25, 2022
-->
rahul gandhi attacks modi bjp govt farmers compensation killed in farmers agitation rkdsnt

राहुल गांधी बोले- पंजाब सरकार के पास है मृत किसानों की सूची, मुआवजा दे मोदी सरकार

  • Updated on 12/3/2021


नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसान आंदोलन में मारे गए किसानों के परिजनों के मुआवजे के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार को प्रेस वार्ता कर घेरा है। राहुल गांधी ने कृषि कानूनों की वापसी के लिए आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों का ‘कोई रिकॉर्ड नहीं’ कहने के लिए केंद्र की आलोचना की और कहा कि पंजाब सरकार ने 403 लोगों की पहचान की है। 

गौतम अडानी ने की ममता से मुलाकात, पश्चिम बंगाल में निवेश को लेकर चर्चा

राहुल गांधी ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि मोदी के नेतृत्व वाली सरकार कृषि कानूनों को निरस्त करने के बाद किसानों की मांगों को स्वीकार करेगी, इसकी मंशा सही नहीं है।' उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार उन कृषि कानूनों के लिए जिम्मेदार नहीं है, जिनका विरोध हुआ, फिर भी 403 मृतक किसानों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये दिए। कांग्रेस के पास पंजाब के बाहर के 100 किसानों की लिस्ट है, जिन्होंने कृषि कानूनों के आंदोलन के दौरान जान गंवाई, सार्वजनिक रिकॉर्ड से 200 और लोगों की सूची है। 

मानवता दिखाएं प्रधानमंत्री मोदी 
राहुल गांधी ने कृषि कानून विरोधी आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों का ‘रिकॉर्ड नहीं होने’ को लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उन्हें मानवता दिखाते हुए इन किसानों के परिवारों को उचित मुआवजा प्रदान करना चाहिए। उन्होंने ‘किसान आंदोलन के दौरान मारे गए 500 से अधिक किसानों की एक सूची’ भी सार्वजनिक की और कहा कि वह यह सूची सोमवार को लोकसभा के पटल पर रखेंगे।राहुल ने कहा, ‘‘संसद में सवाल किया गया था कि क्या किसान आंदोलन में 700 किसानों की मौत हुई? सरकार ने जवाब दिया कि उसके पास कोई रिकॉर्ड नहीं है। हम 503 नाम जारी कर रहे हैं। बाकी नामों का सत्यापन करने के बाद हम सूची जारी कर देंगे।’’ 

नीतीश ने मेरे लिए ‘आपत्तिजनक’ भाषा का किया इस्तेमाल : भाजपा महिला विधायक

 

उन्होंने दावा किया कि सरकार कोरोना महामारी में मारे गए लोगों और किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को मुआवजा नहीं देना चाहती है, जिस वजह से वह मौत के आंकड़े स्वीकार नहीं कर रही है। राहुल ने जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री और सरकार को मानवता दिखाते हुए किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को उचित मुआवजा देना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘पंजाब की सरकार ने ऐसे किसानों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये का मुआवजा दिया है। हमारी कोई गलती नहीं है। प्रधानमंत्री की गलती से लोगों की जान गई है।’’ 

विदेशों से आए संक्रमित 18 लोगों में ओमीक्रोन का लगाया जा रहा है पता : मांडविया

कांग्रेस नेता ने सवाल किया, ‘‘जब प्रधानमंत्री ने अपनी गलती स्वीकार कर ली, माफी मांग ली तो फिर मुआवजा देने में क्या परेशानी है?’’ सरकार ने गत 30 नवंबर को बताया था कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के आसपास कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान मृत किसानों की संख्या संबंधी आंकड़ा कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पास नहीं है। 

कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने दी भारत में दस्तक, केजरीवाल ने जताया अफसोस

लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह जानकारी दी थी। राजीव रंजन सिंह, टी आर प्रतापन, एन के प्रेमचंद्रन, ए एम आरिफ, डीन कुरियाकोस, प्रो. सौगत राय और अब्दुल खालीक ने पूछा था कि तीन कृषि कानून के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी के आसपास आंदोलन के दौरान कितने किसानों की मौत हुई। तोमर ने बताया था, ‘‘कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पास इस संबंध में कोई आंकड़ा नहीं है।’’
 

प्रदूषण के बीच सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट जारी रहने पर मोदी सरकार ने कोर्ट में दिया हलफनामा

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.