Tuesday, Dec 06, 2022
-->
rahul-gandhi-attacks-modi-bjp-govt-over-lynching-and-lakhimpur-kheri-case-rkdsnt

राहुल गांधी ने लिंचिंग और लखीमपुर खीरी मामले को लेकर मोदी सरकार पर बोला हमला

  • Updated on 12/21/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भाजपा लखीमपुर खीरी मामले से ध्यान भटकाने का प्रयास कर रही है और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के सिर पर केंद्र सरकार का हाथ है। इससे पहले राहुल ने लिंचिंग को लेकर भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, '2014 से पहले ‘लिंचिंग’ शब्द सुनने में भी नहीं आता था। शुक्रिया मोदीजी!'

CAG ने 816 करोड़ की गैस व्यर्थ करने को लेकर ONGC को लगाई फटकार 

वहीं, कई विपक्षी नेताओं के साथ मार्च निकालने के बाद राहुल गांधी ने विजय चौक पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘एक बार फिर विपक्षी दल अजय मिश्रा का मामला उठा रहे हैं। हमने बार-बार कहा है कि एक मंत्री के बेटे ने किसानों को मारा है, जीप से कुचला है। रिपोर्ट आई है कि यह एक साजिश थी। प्रधानमंत्री अपने इस मंत्री के बारे में कुछ नहीं कहते हैं।’’  उन्होंने दावा किया, ‘‘ एक तरफ प्रधानमंत्री किसानों से माफी मांगते हैं। दूसरी तरफ अपने मंत्रिपरिषद से किसानों के हत्यारे को नहीं हटाते हैं।’’ 

BJP पर बरसे आजाद, बोले- धर्म के आधार पर राजनीति करने वालों का करें बहिष्कार

राहुल गांधी ने जोर देकर कहा, ‘‘किसानों और आम जनता के खिलाफ जो किया जा रहा है, उसको हम स्वीकार नहीं करेंगे।’’ बाद में उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘भाजपा लखीमपुर मुद्दे से ध्यान भटकाने में लगी है। सच ये है कि उस हत्यारे के सर पर मोदी सरकार का हाथ है वरना अब तक मंत्री को निकाल दिया होता। लेकिन याद रहे- न्याय तो हम लेकर रहेंगे!’’ 

राहुल गांधी पर अमित मालवीय का पलटवार
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने मंगलवार को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए 1984 के सिख विरोधी दंगों का मामला उठाया और उनके पिता व पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को ‘‘मॉब लिंचिंग का पिता’’ करार दिया। राहुल गांधी ने पंजाब और कुछ अन्य जगहों पर भीड़ द्वारा पीट-पीटकर कथित तौर पर मार डालने (लिंचिंग ) की हालिया घटनाओं की पृष्ठभूमि में मंगलवार को आरोप लगाया था कि साल 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार बनने से पहले ‘ङ्क्षलङ्क्षचग’ शब्द सुनने में नहीं आता था। 

यूपी के बाद गुजरात में पेपर लीक, कांग्रेस ने की हाई कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग

उन्होंने ‘थैंक्यू मोदी जी’ हैशटैग के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘‘2014 से पहले ‘लिंचिंग ’ शब्द सुनने में भी नहीं आता था।’’      गौरतलब है कि गत रविवार को पंजाब के कपूरथला के निजामपुर गांव में एक गुरुद्वारा में सिख धर्म के ‘निशान साहिब’ (ध्वज) का अनादर करने के आरोप में एक अज्ञात व्यक्ति को भीड़ ने पीट-पीटकर कथित तौर पर मार डाला। इससे पहले अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में शनिवार को कथित बेअदबी को लेकर भीड़ ने एक अन्य व्यक्ति की पीट-पीट कर कथित तौर पर जान ले ली थी। 

जया बच्चन ने सपा नेताओं पर आयकर छापे को लेकर BJP सरकार पर बोला हमला

 केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि 1984 के सिख दंगों में सैंकड़ों की संख्या में सिखों की हत्या कर दी गई थी और इसके लिए कांग्रेस के कुछ नेताओं को जिम्मदार ठहराया जाता है। उन्होंने 1989 के भागलपुर दंगों का भी उल्लेख किया और सवाल किया कि क्या वह मार डालने यानी लिंचिंग  की घटना नहीं थी। 

निर्वाचन विधि (संशोधन) विधेयक से वोटरों की निजता से होगा समझौता: तृणमूल कांग्रेस

उन्होंने कहा, ‘‘भीड़ द्वारा टायर जलाकर सिखों के गले में डालकर उनकी हत्या की गई थी। क्या यह लिंचिंग नहीं थी।’’      भाजपा के आईटी विभाग के मुखिया अमित मालवीय ने ट््वीट कर कहा, ‘‘मिलिए राजीव गांधी से, मॉब लिंचिंग के पिता, सिखों के कत्लेआम को न्यायोचित ठहरा रहे हैं। कांग्रेस सड़कों पर उतरी, ‘खून का बदला खून से लेंगे’ जैसे नारे लगाए, बलात्कार किया, सिखों के गले में जले हुए टायर डाल दिए गए और नालियों में पड़े शवों को कुत्ते खा रहे थे।’’ 

लौरेंको के इस्तीफे के बाद केजरीवाल बोले- गोवा में खत्म हो चुकी है कांग्रेस

 

मालवीय ने राजीव गांधी के एक भाषण का वीडियो भी साझा किया।      ज्ञात हो कि इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश में दंगे भड़क गए थे और इस पर प्रतिक्रिया देते हुए राजीव गांधी ने कहा था कि जब बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है। आलोचकों ने इसे राजीव गांधी द्वारा दंगों को न्यायोचित ठहराने वाला बयान करार दिया था। राहुल गांधी पर निशाना साधने के लिए मालवीय ने अपने ट्वीट में 1969 और 1993 के बीच हुए विभिन्न दंगों का भी उल्लेख किया।      
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.