Wednesday, Apr 14, 2021
-->
rahul gandhi congress holding farm save rally stopped border haryana modi bjp govt rkdsnt

राहुल गांधी ने हरियाणा में भी कृषि कानूनों पर मोदी सरकार को घेरा

  • Updated on 10/6/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। खेती बचाओ रैली कर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को हरियाणा के बॉर्डर पर रोक लिया गया है। इसको लेकर राहुल गांधी ने अपना रोष जाहिर करते हुए कहा है कि हम आगे नहीं जाएंगे, खुशी से यहीं इंतजार करेंगे। फिर चाहे एक घंटा लगे या 5000 घंटों का इंतजार ही क्यों ना करना पड़े। बता दें कि राहुल गांधी पंजाब के बाद हरियाणा में कृषि कानूनों के खिलाफ केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए किसानों का साथ दे रहे हैं। 

उत्तर प्रदेश उपचुनाव : सपा ने घोषित किए अपने प्रत्याशी

 

 

 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि पूरी कांग्रेस नये कृषि कानूनों के खिलाफ लड़ाई में किसानों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अपने रुख से एक इंच भी पीछे नहीं हटेगी। गांधी ने अपनी ‘‘खेती बचाओ यात्रा’’ के समापन पर शाम को यहां कहा कि केन्द्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार बनाने के बाद कृषि कानूनों को वापस ले लिया जायेगा और इन्हें ‘‘कचरे के डिब्बे’’ में फेंक दिया जायेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार की नीतियों को अपने हमले के केंद्र में रखा।  

सुशांत राजपूत की बहनें अपने खिलाफ दर्ज FIR रद्द करने बॉम्बे हाई कोर्ट पहुंची

उन्होंने कहा, ‘‘Þहम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं। हम आपके साथ हैं और हम एक इंच पीछे नहीं हटेंगे। केवल हरियाणा या पंजाब में ही नहीं बल्कि पूरे देश में पूरी कांग्रेस आपके पीछे खड़ी है। जब हमारी सरकार बनेगी तो हम इन कानूनों को रद्द कर देंगे और इन्हें कूड़े के डिब्बे में फेंक देंगे।’’ गांधी ने रविवार को पंजाब के मोगा जिले से ‘‘खेती बचाओ यात्रा’’ शुरू की थी। पंजाब के पटियाला जिले से अपनी ‘ट्रैक्टर रैली’ के बाद गांधी यहां पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया कि किसान समझते हैं कि मोदी कुछ चुनिंदा व्यापारिक घरानों के लिए रास्ता साफ कर रहे हैं, क्योंकि किसान, श्रमिक ‘‘मोदी की वो मार्केटिंग नहीं कर सकते, जो ये कॉरपोरेट कर सकते हैं।’’ 

बिहार में NDA में हुआ सीट बंटवारा, BJP ने 27 उम्‍मीदवारों की सूची जारी की

उन्होंने दावा कि इसलिए किसानों की जमीन उन्हें सौंपने के लिए ‘‘छीनी’’ जा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री देश के किसान को नहीं जानते है। मोदी जी, अगर आपको लगता है कि किसान खड़े नहीं हो सकते और अपनी आवाज नहीं उठा सकते, तो आप गलत हैं। भारतीय किसान किसी से नहीं डरता। वह जानता है कि कैसे लडऩा है, वह एक इंच पीछे नहीं हटेगा।’’ गांधी ने कहा, ‘‘लेकिन हमारी सरकार बनने से पहले, हम संघर्ष जारी रखेंगे और किसानों की आवाज उठाएंगे और साथ में हम इन कानूनों का विरोध करेंगे।’’

 इससे पूर्व पंजाब के साथ लगती हरियाणा की सीमा पर विभिन्न नाटकीय घटनाक्रमों के बीच राज्य के अधिकारियों ने गांधी और पार्टी के कुछ नेताओं को कृषि कानूनों के खिलाफ उनकी रैली के लिए भाजपा शासित राज्य में आने की अनुमति दे दी। पंजाब के पटियाला जिले से गांधी के साथ कांग्रेस के कई कार्यकर्ता भी थे लेकिन उनके काफिले को पेहोवा सीमा एक घंटे तक रोक लिया गया था। गांधी जब हरियाणा में प्रवेश के लिए अनुमति का इंतजार कर रहे थे तो उन्होंने ट््वीट किया, ‘‘उन्होंने हमें हरियाणा सीमा पर एक पुल पर रोक दिया है। मैं आगे नहीं बढ़ रहा हूं और यहां इंतजार करके खुश हूं। एक घंटे, पांच घंटे, 24 घंटे, 100 घंटे, 1000 घंटे या 5000 घंटे।’’ 

शिवसेना ने पूछा- अभिनेत्री कंगना को सुरक्षा तो फिर हाथरस पीड़िता के परिजनों को क्यों नहीं?

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गांधी को हरियाणा में प्रवेश से रोके जाने के प्रयास के लिए हरियाणा की भाजपा सरकार की ङ्क्षनदा की। अमरिंदर ने कार्रवाई को अलोकतांत्रिक और निरंकुश बताया और कहा कि इससे कांग्रेस किसानों के अधिकारों की लड़ाई नहीं रोक सकती। मुख्यमंत्री ने अपने हरियाणा के समकक्ष से कहा कि कृषि कानून पंजाब के किसानों को ही नहीं बल्कि हरियाणा के किसानों को भी तबाह कर देंगे। गांधी के साथ राज्य कांग्रेस प्रमुख कुमारी शैलजा, वरिष्ठ नेताओं भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, रणदीप सिंह सुरजेवाला, किरण चौधरी, अजय सिंह यादव, पार्टी के हरियाणा मामलों के प्रभारी विवेक बंसल मौजूद थे।

गांधी ने कहा कि अगर मंडियां और खाद्य सुरक्षा देने वाली व्यवस्था टूट गई तो न केवल किसान, मजदूर बल्कि पूरा देश गुलाम हो जाएगा।गांधी ने केन्द्र सरकार पर नोटबंदी, जीएसटी को लेकर हमला बोला और दावा किया कि उनकी (मोदी) सरकार ने गरीबों, कमजोर वर्गों, किसानों और छोटे दुकानदारों के लिए पिछले छह साल से कुछ भी नहीं था, केवल उन्हें कष्ट देने के। सुरजेवाला, हुड्डा और शैलजा ने कहा कि इन Þकिसान विरोधीÞ कानूनों के खिलाफ लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक वे सरकार को उन्हें वापस लाने के लिए मजबूर नहीं कर देते।      

हाथरस कांड : कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल योगी सरकार के हलफनामे को बताया ‘सफेद झूठ’

कल हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा था कि अगर राहुल गांधी अपनी ट्रैक्टर रैलियों के लिए कुछ लोगों के साथ मंगलवार और बुधवार को राज्य में प्रवेश करते हैं तो हरियाणा सरकार को कोई समस्या नहीं है, लेकिन उन्हें माहौल को खराब करने के लिए बड़ी भीड़ लाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। आज राहुल गांधी अपने समर्थकों के साथ कुरुक्षेत्र जिले के पिहोवा शहर पहुंचाना है और सभा को संबोधित करना है। वह करनाल में भी जनसभा को संबोधित करेंगे। 

मप्र उपचुनाव से पहले नये कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों ने खोला मोर्चा

विज ने कहा था कि यह हमारी कानून एवं व्यवस्था से जुड़ा मुद्दा है। पिछले महीने, हमने कांग्रेस प्रायोजित दो रैलियों को राज्य में प्रवेश करने से रोक दिया था। पंजाब में कांग्रेस सत्ता में हैं और वह हरियाणा के शांतिपूर्ण वातावरण को खराब करने के लिए राज्य के तंत्र का उपयोग करना चाहती है, जिसकी हम अनुमति नहीं देंगे। विज ने आरोप लगाया कि कांग्रेस हरियाणा के किसानों को भड़काने की कोशिश कर रही है, लेकिन राज्य सरकार उन्हें Þउनकी योजना में कामयाब नहीं होने देगी।

हाथरस रेप मामला : भाजपा के पूर्व विधायक के घर पर जुटी सैकड़ों की भीड़

उन्होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति में हम हरियाणा में शांति व्यवस्था को खराब करने के लिए कांग्रेस की दुष्ट योजना को कामयाब नहीं होने देंगे। हम किसी भी कीमत पर इसकी अनुमति नहीं देंगे। विज ने एक अक्टूबर को भी कहा था कि गांधी की ट्रैक्टर रैली को राज्य में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने उनसे पूछा था कि क्या राज्य में जंगल राज चल रहा है ? 

AAP नेता संजय सिंह पर हाथरस में फेंकी गई स्याही, AAP कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज

 

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.