Tuesday, Jan 25, 2022
-->
rahul gandhi congress taunt yogi bjp govt up gives sticks youths seeking employment rkdsnt

राहुल गांधी का तंज, कहा- रोजगार मांगने वालों को लाठियां देती है यूपी की योगी सरकार

  • Updated on 12/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लखनऊ में प्रदर्शनकारियों के एक समूह पर पुलिस के लाठीचार्ज की खबरों को लेकर रविवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा और कहा कि रोजगार मांगने वालों को यह सरकार लाठियों से पीटती है। गांधी ने कहा कि जब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) वोट मांगने आए तो जनता इसे याद रखे।

राहुल गांधी बोले- पंजाब सरकार के पास है मृत किसानों की सूची, मुआवजा दे मोदी सरकार

राहुल ने इन खबरों को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा कि लखनऊ पुलिस ने शनिवार शाम को ‘कैंडललाइट मार्च’ निकाल रहे प्रदर्शनकारियों के एक समूह पर लाठियां चलाईं। खबरों के अनुसार प्रदर्शनकारी 2019 में हुई उत्तर प्रदेश शिक्षक प्रवेश परीक्षा में कथित अनियमितताओं को लेकर मार्च निकाल रहे थे। कांग्रेस नेता ने घटना का कथित वीडियो साझा करते हुए ङ्क्षहदी में ट््वीट किया, ‘‘रोकागार मांगने वालों को उत्तर प्रदेश सरकार ने लाठियां दीं। जब भाजपा वोट मांगने आए तो याद रखना।’’ 

नगालैंड की घटना पर आखिर क्या कर रहा है गृह मंत्रालय 
नगालैंड के मोन जिले में उग्रवाद रोधी अभियान के दौरान कई आम लोगों की मौत होने की घटना की पृष्ठभूमि में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा कि जब ‘‘आम लोग और सुरक्षाकर्मी अपनी ही जमीन पर सुरक्षित नहीं हैं’’ तो सरकार को ‘‘सही-सही जवाब’’ देनी चाहिए कि गृह मंत्रालय आखिर क्या कर रहा है 

नवाब मलिक का दावा- शाह के इशारे पर NCB ने ANC से ड्रग्स से जुड़े 5 बड़े मामले सौंपने को कहा

नगालैंड में पुलिस ने कहा कि राज्य के मोन जिले में सुरक्षाबलों की कथित गोलीबारी में कम से कम 11 आम लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि वह इस घटना की जांच कर रही है, ताकि यह पता चल सके कि क्या यह गलत पहचान का मामला है।      घटना की पृष्ठभूमि में राहुल गांधी ने ट््वीट किया, ‘‘यह दिल दुखाने वाला है। भारत सरकार को सही-सही जवाब देना चाहिए। गृह मंत्रालय आखिरकार कर क्या रहा है जब आम नागरिक, यहां तक कि सुरक्षाकर्मी अपनी ही जमीन पर सुरक्षित नहीं हैं।’’ 

BJP में शामिल हुए सिरसा पर अकाली दल ने बोला हमला, कहा- खालसा पंथ के साथ किया विश्वासघात

सेना ने इस मामले की ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का रविवार को आदेश दिया और इस घटना को ‘‘अत्यंत खेदजनक’’ बताया। सैन्य अधिकारियों ने बताया कि म्यांमा की सीमा से लगने वाले मोन जिले में उग्रवादियों की संभावित गतिविधियों की विश्वसनीय खुफिया जानकारी के आधार पर अभियान चलाया गया था। सेना ने कहा कि कई सुरक्षाकर्मी अभियान में गंभीर रूप से घायल हुए हैं और एक जवान की मौत हो गई है।  


 

comments

.
.
.
.
.