Tuesday, Mar 09, 2021
-->
rahul gandhi fan ajoy kumar quit aap return congress bihar assembly elections rkdsnt

अजॉय कुमार का केजरीवाल से मोहभंग, बिहार चुनाव में कांग्रेस को देंगे ताकत

  • Updated on 9/27/2020

 

नई दिल्ली/नवोदय टाइम्स ब्यूरो। झारखंड प्रदेश कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष डॉ. अजॉय कुमार (Ajoy Kumar) ने आम आदमी पार्टी (AAP) का झाड़ू झटक कर फिर से कांग्रेस का हाथ पकड़ लिया है। यह उनकी घर वापसी है। 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ कर आप ज्वाइन किया था।

फडणवीस-राउत मुलाकात के बाद उद्धव ठाकरे से मिले शरद पवार, सियासत गर्म

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) से राजनेता बने डॉ. अजॉय कुमार अभी आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता थे। आप छोड़ने और कांग्रेस ज्वाइन करने की जानकारी डॉ. अजॉय ने खुद ट्वीट कर दी। उन्होंने महात्मा गांधी के एक कथन को कोट किया-मौन उस वक्त कायरता बन जाती है, जब वक्त की मांग पर आप पूरी तरह सच नहीं बोलते और उसके अनुरूप आचरण नहीं करते।

शिवसेना के साथ फिर से तालमेल पर फडणवीस ने भाजपा का रुख किया साफ

उन्होंने आगे लिखा- ऐसे वक्त में जब अन्याय और संस्थानों पर कब्जे के खिलाफ खुलकर बोलने की जरूरत हो, राहुल गांधी ने मुझे प्रेरित किया और मैंने आज कांग्रेस में वापसी का निश्चय किया। कांग्रेस के संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने डॉ. अजॉय कुमार की कांग्रेस में पुनर्वापसी की मंजूरी दे दी है।

बॉलीवुड ड्रग्स मामले में राकेश अस्थाना ने ली NCB अधिकारियों के साथ अहम बैठक


2019 के लोकसभा चुनाव तक डॉ. अजॉय कुमार झारखंड कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। उन्हीं के नेतृत्व में पार्टी ने लोकसभा चुनाव लड़ा था। लेकिन करारी हार के बाद उन्होंने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि इसके पहले हुई एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में डॉ. अजॉय के साथ कुछ पार्टी नेताओं ने धक्कामुक्की कर दी थी। इससे वे काफी नाराज थे।

बिहार विधानसभा चुनाव : तेजस्वी, तेजप्रताप और पप्पू यादव के खिलाफ मामले दर्ज

राहुल गांधी को भेजे अपने इस्तीफे में तीखे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए उन्होंने लिखा था कि आईपीएस के रूप में राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार हासिल किए, लेकिन जैसे सहयोगी उन्हें मिले, उनके आगे खराब से खराब अपराधी भी बेहतर दिखते हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि पार्टी के कार्यकर्ता कांग्रेस के नहीं, नेताओं के वफादार हैं।

मजबूरी में शिरोमणि अकाली दल ने मोदी सरकार से नाता तोड़ा : सुखदेव ढींढसा

कांग्रेस छोड़ने से पहले तक डॉ. अजॉय कुमार को राहुल गांधी टीम का हिस्सा माना जाता था। कहा यह भी जा रही है कि कांग्रेस के अगले महाधिवेशन में राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष पद पर पुनर्वापसी कर सकते हैं। इसके पहले उनकी टीम का हिस्सा रहे उन नेताओं को फिर से पार्टी में जोड़ने की कोशिशें की जा रही हैं, जो किन्हीं कारणों से कांग्रेस छोड़ चुके हैं।

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...


 

comments

.
.
.
.
.