Saturday, Dec 07, 2019
rahul gandhi priyanka gandhi congress targeted narendra modi bjp govt modinomics nso

राहुल, प्रियंका गांधी ने ‘मोदीनॉमिक्स’ को लेकर #BJP सरकार पर किए कटाक्ष

  • Updated on 11/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रति व्यक्ति द्वारा खर्च की औसत राशि में गिरावट से जुड़ी खबर को लेकर शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि ‘मोदीनॉमिक्स’ (मोदी के अर्थशास्त्र) ने इतना ज्यादा नुकसान कर दिया है कि अब सरकार को अपनी ही रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है। 

कश्मीर का अंतरराष्ट्रीयकरण करने में मोदी सरकार ने नहीं छोड़ी कोई कसर : कांग्रेस

गांधी ने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला दिया है जिसमें राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के आंकड़े का जिक्र करते हुए कहा गया है कि भारत में 2011-12 में एक व्यक्ति द्वारा खर्च की गई औसत राशि 1501 रुपये थी, जो 2017-18 में 3.7 फीसदी की गिरावट के साथ 1446 रुपये हो गई। 

पवार बोले- नहीं होंगे मध्यावधि चुनाव, महाराष्ट्र में बनेगी शिवसेना-NCP-कांग्रेस की सरकार

इस रिपोर्ट का हवाला देते हुए राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘मोदीनॉमिक्स ने इतना ज्यादा नुकसान कर दिया है कि अब सरकार को अपनी ही रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है।’’ इस रिपोर्ट के अनुसार प्रति व्यक्ति मासिक खपत व्यय (एमपीसीई) के आंकड़े वास्तविक संदर्भ में हैं यानी इन्हें 2009-10 को आधार वर्ष मानकर महंगाई के हिसाब से समायोजित किया गया था। 2011-12 में वास्तविक एमपीसीई दो साल की अवधि में 13 फीसदी बढ़ा था। 

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी इसी रिपोर्ट का हवाला देते हुए मोदी सरकार पर हमला बोला और कहा कि एक बार फिर साबित हो गया है कि नोटबंदी और जल्दबाजी में लागू की गई जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था को बहुत नुकसान पहुंचा है।

#BJP ने हिंदुत्व के एजेंडे पर शिवसेना को लिया आड़े हाथ, पूछा- कांग्रेस से कैसे बनेगी बात?

प्रियंका गांधी ने भी भाजपा पर बोला हमला
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रति व्यक्ति द्वारा खर्च की औसत राशि में गिरावट से जुड़ी खबर को लेकर शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा और तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के लोगों को डाटा नहीं, बल्कि गरीबी को किनारे लगाने पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘शेखचिल्ली के लतीफ़ों के बारे में खास बात ये थी कि डींगें बड़ी-बड़ी होती थीं, लेकिन असल काम में सब चौपट। भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है।’’ 

#JNU फीस वापसी को छात्रों, अध्यापकों ने बताया दिखावा, मोदी सरकार पर बरसे

दुनिया के सबसे बड़े कला संग्रहालय के बोर्ड में चुनी गईं नीता अंबानी

प्रियंका ने दावा किया, ‘‘ तो बहनों-भाइयों नया डाटा कहता है कि लोग गरीब हो रहे हैं। लोगों की खर्च करने की क्षमता घट रही है। गांवों में लोगों के पास खाने पर खर्च करने के पैसे भी कम हो रहे हैं।’’ उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘भाजपा वालों, डाटा को किनारे मत लगाओ, गरीबी को किनारे करो।’’ कांग्रेस महासचिव ने जिस मीडिया रिपोर्ट का हवाला दिया है उसमें राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के आंकड़े का जिक्र करते हुए कहा गया है कि भारत में 2011-12 में एक व्यक्ति द्वारा खर्च की गई औसत राशि 1501 रुपये थी, जो 2017-18 में 3.7 फीसदी की गिरावट के साथ 1446 रुपये हो गई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.