Tuesday, Sep 28, 2021
-->
rahul gandhi said july has come and corona vaccines did not come bjp retaliated rkdsnt

राहुल गांधी बोले: जुलाई आ गई और टीके नहीं आए, भाजपा ने किया पलटवार

  • Updated on 7/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोविड-19 रोधी टीकों की कथित कमी का हवाला देते हुए शुक्रवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि जुलाई का महीना आ गया है, लेकिन टीके नहीं आए हैं। भाजपा ने उन पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें ‘‘नफरत का मोतियाबिंद’’ हो गया है। राहुल गांधी ने ट््वीट किया, ‘‘जुलाई का महीना आ गया है, वैक्सीन नहीं आयीं।’’ स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने उन पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया, ‘‘ अभी कल ही मैंने जुलाई के लिए टीके की उपलब्धता को लेकर तथ्य सामने रखे थे। राहुल गांधी जी की समस्या क्या है? क्या वह समझते नहीं हैं? अहंकार और अज्ञानता के वायरस का कोई टीका नहीं है। कांग्रेस को अपने नेतृत्व में आमूल-चूल बदलाव के बारे में विचार करने की जरूरत है।’’ 

उत्तराखंड : खतरे में CM रावत की कुर्सी, 24 घंटों में दूसरी बार भाजपा अध्यक्ष से मिले

भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने दावा किया कि भारत में 21 जून के बाद पिछले 11 दिनों के अंदर लोगों को औसतन 62 लाख टीकों की खुराक प्रतिदिन दी गई हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी या तो इस सच्चाई को देखना नहीं चाहते या फिर ‘‘भ्रम फैलाना’’ ही कांग्रेस की अघोषित नीति बन गई है। उन्होंने कहा, ‘‘जुलाई आ गया लेकिन राहुल गांधी को यह सदबुद्धि कब आएगी कि विपक्ष की भूमिका रचनात्मक होती है? आपको सत्ता सुख भोगने की लालसा है और मोदी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) से नफरत भी है। नफरत का मोतियाबिंद आपको सत्य से दूर क्यों कर देता है ?’’ उन्होंने कहा कि राहुल गांधी या तो सच्चाई को देखना नहीं चाहते या फिर ‘‘भ्रम फैलाना’’ ही कांग्रेस की ‘‘अघोषित नीति’’ बन गई है। 

अखिल गोगोई ने दिखाए तेवर, कहा- पुनर्जीवित करेंगे सीएए विरोधी आंदोलन को

दरअसल, कांग्रेस का दावा है कि सरकार ने इस साल दिसंबर तक देश के सभी वयस्क नागरिकों को टीका लगाने का जो लक्ष्य रखा है उसे पूरा करने के लिए उचित संख्या में टीकाकरण नहीं हो रहा है, क्योंकि टीके की पर्याप्त उपलब्धता नहीं है। दूसरी तरफ, बृहस्पतिवार को सुबह सात बजे प्रकाशित स्वास्थ्य मंत्रालय के टीकाकरण आंकड़ों के मुताबिक, राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान के तहत कल तक टीके की 33.57 करोड़ खुराकें लगाई जा चुकी थीं।  

शिवसेना के राउत बोले- ED, CBI को सरकारों को हटाने में खुद को संलिप्त नहीं करना चाहिए

Piyush Goyal urges protesting farmers to return home over agricultural laws rkdsnt

Piyush Goyal, BJP, PMO, farmers protest, new agricultural laws, Commerce Minister, protesting farmers, farmers, farmers Movement, Agriculture Minister, Narendra Singh Tomar, 

पीयूष गोयल ने प्रदर्शनकारी किसानों से घर लौटने का किया आग्रह
नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नयी दिल्ली, दो जुलाई (भाषा) केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन आठवें महीने में प्रवेश करने के बीच वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को प्रदर्शनकारी किसानों से अपना आंदोलन खत्म करने और घर लौटने की अपील की। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी किसानों से प्रदर्शन खत्म करने की अपील करते हुए कहा है कि सरकार तीनों कृषि कानूनों के प्रावधानों पर वार्ता बहाल करने के लिए तैयार है। 

उत्तराखंड : खतरे में CM रावत की कुर्सी, 24 घंटों में दूसरी बार भाजपा अध्यक्ष से मिले

गोयल ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मैं अनुरोध करूंगा कि किसान अपने घर लौट जाएं। कानून किसान हितैषी हैं और देश भर के किसानों ने इसका स्वागत किया है। ’’ उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी किसान अपने सुझाव दे सकते हैं। सरकार और किसान संघों ने गतिरोध दूर करने के लिए अब तक 11 दौर की वार्ता की है। अंतिम बार वार्ता 22 जनवरी को हुई थी। गणतंत्र दिवस पर प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में ङ्क्षहसा की घटनाएं होने के बाद से वार्ता बहाल नहीं हुई है। 

अखिल गोगोई ने दिखाए तेवर, कहा- पुनर्जीवित करेंगे सीएए विरोधी आंदोलन को

गौरतलब है कि नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकारी किसानों के दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले सात महीने हो गये हैं। उनमें मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान हैं। 

शिवसेना के राउत बोले- ED, CBI को सरकारों को हटाने में खुद को संलिप्त नहीं करना चाहिए

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.