Thursday, May 06, 2021
-->
rahul gandhi said the country should be ready for a war separate from the border pragnt

राहुल की मोदी सरकार को सलाह, कहा- देश को सीमा से अलग युद्ध के लिए रहना चाहिए तैयार

  • Updated on 3/9/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश की सीमाओं को लेकर कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं। इस बार उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार को आगाह करते हुए कहा कि भारत को सीमा से अलग युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि '2.5 फ्रंट' के युद्ध का चलन अब पुराने दौर की बात हो चुकी है।

राहुल गांधी बोले - सिंधिया भाजपा में रहकर कभी सीएम नहीं बनेंगे...

राहुल गांधी ने कहा ये
कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर कहा, 'भारतीय शस्त्र बलों को 2.5 फ्रंट के युद्ध लड़ने के लिए डिजाइन किया गया है। यह अब बीते दौर की बात हो गई है। फिर भी हमें एक सीमाहीन युद्ध की तैयारी करनी चाहिए।' राहुल गांधी ने कहा, 'यह पिछली परंपराओं और विरासत में मिली व्यवस्थाओं के बारे में बात नहीं है। यह हमारे सोचने के तरीके को बदलने और एक राष्ट्र के रूप में कार्य करने के बारे में है।'

बता दें कि राहुल गांधी का आशय चीन और पाकिस्तान और आधे मोर्चे से उनका मतलब आंतरिक सुरक्षा खतरे जैसे आतंकवाद, नक्सलवाद और अलगाववाद जैसी चुनौतियों से है।

प्रधानमंत्री ने भारत- बांग्लादेश को जोड़ने वाले ‘मैत्री सेतु’ का किया उद्घाटन

चीन ने बढ़ाई भारत की चिंता
गौरतलब है कि चीन इस साल जुलाई से पहले अरूणाचल प्रदेश से लगने वाली भारतीय सीमा के नजदीक तिब्बत तक बुलेट ट्रेनों का संचालन करेगा, जो सभी प्रांतों तक हाई-स्पीड ट्रेन सेवाओं की एक शुरूआत है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। चीन की सरकारी रेलवे ग्रुप कंपनी लिमिटेड के बोर्ड के अध्यक्ष लू डोंगफू ने सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ से कहा कि 435 किलोमीटर लंबे रेल मार्ग पर आंतरिक दहन और बिजली से चलने वाली हाई-स्पीड फिक्सिंग ट्रेन चलायी जाएगी। 

कोर्ट का बड़ा फैसला- ससुराल में पत्नी को लगी हर चोट के लिए दोषी होगा पति

तिब्बत को बुलेट ट्रेन से जोड़ेगा चीन
प्रांतीय राजधानी ल्हासा और पूर्वी तिब्बत के निंगची के बीच रेलवे लाइन का निर्माण 2014 में शुरू हो गया था। यह तिब्बत का पहला ऐसा रेल मार्ग है जहां बिजली से ट्रेन चलेगी और इस पर मार्ग पर जून 2021 में परिचालन शुरू होना है। खबर में कहा गया है कि रेल पटरी बिछाने का काम 2020 में पूरा हो चुका है। लू ने कहा कि चीन का लक्ष्य 2025 तक हाई स्पीड ट्रेन का नेटवर्क 50 हजार किलोमीटर तक करने का है । हाई स्पीड ट्रेन का नेटवर्क 2020 के अंत तक 37,900 किलोमीटर था। उन्होंने बताया कि चीन में निर्मित फिक्सिंग ट्रेनों की गति प्रति घंटा अब बढ़कर 160 किलोमीटर से 350 किलोमीटर के बीच पहुंच गयी है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.