Friday, May 14, 2021
-->
rahul-gandhi-says-tough-on-modi-government-opposition-stands-behind-farmers-rkdsnt

मोदी सरकार पर सख्त राहुल गांधी बोले - किसानों के पीछे खड़ा है पूरा विपक्ष 

  • Updated on 12/9/2020
नई दिल्ली (नवोदय टाइम्स)। सरकार की ओर से मिले लिखित प्रस्ताव मसौदे को लेकर जिस वक्त किसान सिंघु बार्डर पर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, उसी वक्त विपक्ष के कई नेता राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर कृषि कानून और किसान आंदोलन पर चर्चा कर रहे थे। विपक्ष के नेताओं ने राष्ट्रपति से तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने का आग्रह किया। साथ ही किसानों को भरोसा दिलाया कि इस संघर्ष में पूरा विपक्ष उनके साथ खड़ा है।

किसान आंदोलन के बीच सेंसेक्स ने बनाया नया रिकॉर्ड, निफ्टी में भी नई ऊंचाई


राष्ट्रपति से मिलने के लिए विपक्ष के केवल पांच नेताओं को इजाजत मिली। इसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के अलावा एनसीपी प्रमुख शरद पवार, सीपीआई (एम) महासचिव सीताराम येचुरी, सीपीआई महासचिव डी. राजा और डीएमके नेता टीकेएस एलांगोवन शामिल थे। विपक्ष के नेताओं ने राष्ट्रपति को एक ज्ञापन देकर किसान आंदोलन पर चिंता व्यक्त की और कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताया।

CJI बोबडे की मां को नागपुर में एक शख्स ने लगाया करोड़ों का चूना, गिरफ्तार

मुलाकात के बाद बाहर निकलते हुए मीडिया से बातचीत में येचुरी ने बताया कि हमने आलोकतांत्रिक तरीके से संसद में पारित किए गए इन कानूनों को वापस लिए जाने का अनुरोध किया। शरद पवार ने कहा कि कड़कड़ाती ठंड में किसान सड़कों पर डटे हैं और नाराज हैं। सरकार की जिम्मेदारी है कि वह किसानों की समस्या का समाधान करे।

अडाणी ग्रुप ने दी सफाई- कहा- कंपनी किसानों से नहीं खरीदती खाद्यान्न

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि किसान ने इस देश की नींव रखी है और वो दिनभर इस देश के लिए काम करता है। ये जो बिल पास किए गए हैं, ये किसान विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि ये बिल किसानों के हित के लिए है तो सवाल उठता है कि किसान फिर सड़कों पर क्यों खड़ा है। किसान इतना गुस्सा क्यों है।

अभिनेता इमरान हाशमी, सनी लियोनी को ग्रेजुएट छात्र ने बताया माता-पिता

उन्होंने कहा कि इन बिलों का लक्ष्य़ प्रधानमंत्री के मित्रों को हिंदुस्तान का एग्रीकल्चरल सिस्टम थमाने का है, जिसे किसान बहुत अच्छी तरह समझ गया है। राहुल ने कहा कि सरकार को गलतफहमी में नहीं होना चाहिए। किसान समझौता नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि किसान यह भी जानता है कि अगर आज वो समझौता करके बैठ गया तो हिंदुस्तान में उसका कोई भविष्य नहीं रहेगा। उन्होंने किसानों से कहा कि आप बिल्कुल घबराइए मत हम सब आपके साथ खड़े हैं। आपको कोई पीछे नहीं हिला सकता। आप हिंदुस्तान हो।
 
 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.