Wednesday, Apr 14, 2021
-->
rahul-gandhi-share-stage-with-rjd-tejashwi-yadav-in-bihar-attacks-bjp-jdu

बिहार में तेजस्वी के साथ राहुल गांधी, न्याय योजना का अर्थशास्त्र बताया

  • Updated on 4/26/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘न्याय योजना’ को गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक बताते हुए शुक्रवार को कहा कि यह सिर्फ लोकलुभावन नहीं बल्कि पुख्ता अर्थशास्त्र पर आधारित है। गांधी ने मध्यम वर्ग की आशंकाओं को भी खारिज करते हुए कहा कि न्यूनतम आय योजना (न्याय) के लिये वेतनभोगी लोगों को अपनी जेब से एक पैसा नहीं देना होगा। 

AAP नेता भगवंत मान ने दाखिल किया नामांकन, घोषित की संपत्ति

उत्तरी बिहार के इस शहर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने लोकसभा चुनावों की घोषणा के बाद पहली बार गठबंधन सहयोगी राजद के नेता तेजस्वी यादव के साथ मंच साझा किया। गांधी ने जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू यादव के साथ किये जा रहे व्यवहार की भी निंदा की और चेतावनी दी कि भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को चुनावों में इसका नुकसान उठाना होगा। समस्तीपुर (एससी सुरक्षित) सीट से केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान के खिलाफ कांग्रेस ने पूर्व राज्य मंत्री अशोक राम को उतारा है। 

राम रहीम जेल में, हरियाणा में वोटिंग को लेकर असमंजस में डेरा अनुयायी

अमरिंदर सिंह ने देश में मोदी लहर को नकारा, सनी देओल पर कसा तंज

करीब 25 मिनट तक चले अपने भाषण की शुरुआत राहुल ने विमान में खराबी की वजह से देर से पहुंचने पर लोगों से माफी मांगकर की। राहुल ने स्थानीय मैथिली भाषा में लोगों का अभिवादन करते हुए पूछा ‘की हाल-चाल छै’, फिर मुस्कुराते हुए कहा कि क्या मोदी ने आपको बहुत नहीं लूटा है। चौकीदार द्वारा नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या जैसे चोरों को लाखों करोड़ रुपये तोह्फे में दे दिये। गांधी ने आरोप लगाया कि मोदी के करीबी 15 लोगों द्वारा 5.55 लाख करोड़ रुपये की सार्वजनिक रकम चुरा ली गई। 

बीरेंद्र सिंह ने किया चुनावी राजनीति से संन्यास लेने का फैसला

उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों से दो करोड़ रोजगार, सभी गरीबों के खातों में 15 लाख रुपये के अलावा विशेष पैकेज का वादा किया गया था। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ नहीं सब झूठा है, नरेंद्र मोदी ने लूटा है’’। पार्टी के घोषणापत्र में प्रस्तावित न्याय कार्यक्रम को गरीबी के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक बताते हुए गांधी ने घोषणा की कि न्याय योजना के लिये वित्त पोषण नरेंद्र मोदी की मदद से अनिल अंबानी जैसे चोरों द्वारा लूटी गई रकम से किया जाएगा। गांधी ने दावा किया कि यह पुख्ता अर्थशास्त्र भी है क्योंकि गरीबों को दिये गए रुपये से उपभोक्ता वस्तुओं की मांग बढ़ेगी और इससे वाणिज्य और उद्योग को गति मिलेगी।  

जानिए, अब पीएम मोदी के पास कितनी है संपत्ति, कहां से मिली है एमए की डिग्री?

कांग्रेस अध्यक्ष ने उरी और पुलवामा के बाद किये गए सैन्य अभियान को चुनावी मुद्दा बनाने के लिये भी प्रधानमंत्री पर निशाना साधा और कहा कि वह जहां कहीं भी जाते हैं सर्जिकल स्ट्राइक पर संभाषण देते हैं क्योंकि उनके पास कुछ और बचा नहीं है। गांधी ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि वह जहां कहीं भी जाते हैं टेलीप्रॉम्प्टर ले जाते हैं। इसके बाद गांधी ने मंच पर मौजूद राजद नेता की तरफ मुड़कर एक पल के लिये देखा और कहा, तेजस्वी जी आपने भी टेलीप्रॉम्प्टर पर ध्यान दिया होगा। 

केजरीवाल ने की गंभीर को वोट ना देने की अपील, भड़क गए बागी कपिल मिश्रा

वह टेली प्रॉम्प्टर पर देखकर भाषण देते हैं और इस दौरान उन्हें ऊपर से आदेश आते हैं कि रोजगार के बारे में बात मत कीजिए। हर गरीब के खाते में 15 लाख रुपये डालने का जो वादा आपने किया था उसका जिक्र मत कीजिए। किसी भी कीमत पर किसानों का जिक्र मत कीजिए। आपकी किरकिरी हो सकती है। सर्जिकल स्ट्राइक की बीन बजाते रहिये। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आई तो किसी किसान को कर्ज न चुका पाने पर जेल नहीं भेजा जाएगा। गांधी ने कहा कि आप नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे लोगों को कर्ज चुकाए बिना देश से भागने में मदद करते रहिये लेकिन हम आम लोगों, किसानों और कामगार वर्ग के साथ खड़े हैं और उनका बोझ भी साझा करेंगे। और हम उन लोगों के कल्याण के लिए उससे दो गुनी रकम खर्च करेंगे जितनी आपने अपनी पसंद के 15 लोगों की जेब में डालने में मदद की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.