Wednesday, Dec 01, 2021
-->
rahul gandhi took a jibe at the government he is afraid of cartoons questions and truth prshnt

राहुल गांधी का सरकार पर तंज, ट्वीट कर लिखा- कार्टून, सवाल और सच वह सब से डरता है

  • Updated on 6/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर ट्वीट कर सरकार को घेरा है उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, 'सच से, सवालों से, कार्टून से वह सब से डरता है। इस ट्वीट में उन्होंने किसी के नाम का जिक्र नहीं किया लेकिन कमेंट पढ़कर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि राहुल गांधी ने किस तरफ इशारा किया है। राहुल गांधी टि्वटर पर लगातार एक्टिव हैं और लगातार इसका इस्तेमाल भाजपा सरकार पर हमला करने, उनकी नीतियों पर सवाल खड़े करने के लिए कर रहे हैं। 

PM मोदी से CM योगी की मुलाकात खत्म, अब पार्टी अध्यक्ष JP नड्डा से मिलेंगे

टीकाकरण के ऑनलाइन पंजीकरण पर सवाल
राहुल गांधी ने इससे पहले कोविड-19 रोधी टीकाकरण के लिए सिर्फ ऑनलाइन पंजीकरण होने पर सवाल खड़े करते हुए कहा था कि जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है, उन्हें भी टीका लगना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, टीके के लिए सिफऱ् ऑनलाइन पंजीकरण काफी नहीं है। टीकाकरण केंद्र पर पहुंचने वाले हर व्यक्ति को टीका मिलना चाहिए। जीवन का अधिकार उनका भी है जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है।

Coronavirus: लगातार चौथे दिन एक लाख से कम नए मामले, 24 घंटे में 91,702 केस, 3403 मौतें

पंजीकरण की अनिवार्यता को लेकर सवाल
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने भी पिछले दिनों ‘को-विन’ पंजीकरण की अनिवार्यता को लेकर सवाल किया था। उन्होंने कहा था, हमने कई बार कहा कि यह अनिवार्य नहीं होना चाहिए क्योंकि देश में बहुत सारे लोगों के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है। सरकार ने मांग सुनी, लेकिन पूरी नहीं सुनी। अभी सरकारी अस्पतालों में पंजीकरण अनिवार्य नहीं है, लेकिन निजी अस्पताल के लिए है। हम फिर से कहना चाहते हैं कि सभी जगह को-विन पंजीकरण अनिवार्य नहीं होना चाहिए।

छात्रों के समूह ने पुस्तकालय में घुसकर कर्मचारियों से हाथापाई की: जेएनयू 

स्थानीय भाषाओं पर राहुल गांधी
इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने स्थानीय भाषाओं की शक्ति की सराहना करते हुए बुधवार को कहा कि इनको संरक्षण दिए जाने की जरूरत है। उन्होंने यह टिप्पणी उस खबर का हवाला देते हुए की है जिसमें कहा गया है कि महाराष्ट्र में आदवासियों के बीच कोविड के टीकाकरण को लेकर बनी भ्रम की स्थिति को स्थानीय कोरकू भाषा की मदद से खत्म किया जा रहा है।

कांग्रेस नेता ने इस खबर को साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘मेलघाट के जंगलों की यह कहानी स्थानीय भाषाओं की शक्ति को साबित करती है। इनमें से हर भाषा को संरक्षित करने की जरूरत है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.