Thursday, Feb 27, 2020
rahul gandhi troll on social media coronavirus

कोरोना वायरस पर बोलकर खतरे में पड़े राहुल गांधी, हुई ये बड़ी चूक

  • Updated on 2/13/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul gandhi) जब भी कुछ कहते हैं या ट्वीट करते है तो सोशल मीडिया वो निशाने पर आ जाते हैं। ऐसा ही कुछ इस बार भी राहुल गांधी के साथ हुआ चीन (China) के शहर वुहान में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस (Corona Virus)  का कहर राहुल गांधी पर भी दिखाई दिया। उन्होंने 12 फरवरी को कोरोना वायरस को लेकर एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने एक नक्शा भी लगाया लेकिन उनसे ये गलती हो गई कि इस नक्शे में जम्मू कश्मीर का एक हिस्सा  पाकिस्तान में दिख रहा था। 

डिलीट किया ट्वीट
जब राहुल गांधी को इस बारे में पता चला तो उन्होंने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया लेकिन तब तक सोशल मीडिया पर ये बात आग की तरह फैल गई थी कि राहुल गांधी ने गलत नक्शा पोस्ट किया है और उन्हें ट्रोल करने वाले यूजर्स एलर्ट हो गए और उन्हें निशाने पर लेते हुए ट्वीट भी किया।

उनमें से एक ट्वीट था बीजेपी के आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय का। उन्होंने कहा कि  'आप बार-बार उस नक्शे का इस्तेमाल क्यों करते हैं, जिसमें जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग दिखाया गया है?'

Coronavirus: शी जिनपिंग ने की मोदी के पत्र की सराहना, कहा- ये हमारी दोस्ती प्रदर्शित करता है

भारतीय छात्रों को वापस लाने के लिए एयर इंडिया की दो फ्लाइट भेजी गईं थीं
कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने अपनी ओर से एक बयान दिया था। उस बयान पर विभिन्न दलों के सदस्यों ने उनसे स्पष्टीकरण पूछा था और उन्हीं स्पष्टीकरणों के जवाब में विदेश मंत्री ने यह जानकारी दी। विदेश मंत्री ने बताया कि भारत सरकार ने चीन के वुहान क्षेत्र में भारतीय छात्रों को देश वापस लाने के लिए एयर इंडिया की दो फ्लाइट भेजी थीं। उन्होंने बताया कि 80 भारतीय छात्र अभी वुहान में फंसे हुए हैं। इनमें से 70 छात्र स्वेच्छा से वहां रुके हैं।

कोरोना वायरस: PM मोदी ने चीनी राष्ट्रपति को लिखा पत्र, कहा- हम आपके साथ खड़े

पॉजिटिव मामलों पर लगातार रखी जा रही है नजर
स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दिए बयान में कहा कि अभी तक केरल से कोरोना वायरस के तीन पॉजिटिव मामलों का पता चला है। तीनों का चीन के वुहान की यात्रा करने का इतिहास रहा है। उन्होंने कहा कि इन तीनों लोगों को पृथक किया गया है और क्लीनिकल आधार पर उनकी स्थिति स्थिर बताई गई है। हर्षवर्धन ने बताया कि सरकार ने स्थिति पर निगरानी रखने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री की अध्यक्षता में मंत्रियों का एक समूह बनाया है।

कोरोना: चेतावनी देने वाले डॉ ली की मौत के बाद चीनी सरकार के खिलाफ भड़की जनता

कई अन्य देशों से लगातार सामने आ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले
संक्रमण के चलते चीन में 1,110 से ज्यादा लोगों की जान चली गई वहीं 42,000 से अधिक लोग इससे से संक्रमित है। कोरोना वायरस के मामले कई अन्य देशों में भी सामने आए हैं। किसी भी टीके को तैयार करने में अमूमन वर्षों लग जाते हैं और यह जानवरों पर परीक्षण, मनुष्यों पर क्लिनिकल परीक्षण तथा नियामक स्वीकृतियां प्राप्त करने की एक लंबी प्रक्रिया है लेकिन विश्वभर में विशेषज्ञों की कई टीमें कोरोना वायरस के लिए जल्द से जल्द टीका विकसित करने की तलाश में जुटी हैं।

comments

.
.
.
.
.