Thursday, Jan 27, 2022
-->
rahul-gandhi-will-now-go-to-lakhimpur-kheri-to-support-priyanka-congress-hot-on-ajay-mishra-rkdsnt

प्रियंका का साथ देने अब राहुल गांधी जाएंगे लखीमपुर खीरी, कांग्रेस अजय मिश्रा पर गर्म

  • Updated on 10/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल बुधवार को लखीमपुर खीरी जाएगा और पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इसकी अनुमति देने का आग्रह किया गया है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी बुधवार को लखनऊ और फिर लखीमपुर खीरी जाना चाहते हैं ताकि वह ङ्क्षहसा में मारे गए किसानों के परिवारों से मुलाकात कर संवेदना प्रकट सकें। 

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजा है जिसमें कहा गया है कि राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल छह अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जाएगा। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से कहा है कि राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश के कई राजनीतिक दलों और पश्चिम बंगाल के एक प्रमुख दल (तृणमूल कांग्रेस) के नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति दी है, लेकिन कांग्रेस के नेताओं को अनुमति नहीं दी जा रही है। 

RSS प्रमुख के इशारे पर देश को आर्थिक गुलामी की ओर ले जा रही है मोदी सरकार : कांग्रेस

वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को भी दौरा करने की अनुमति दी जाए। लखनऊ में कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि राहुल गांधी के लखनऊ पहुंचने से जुड़ी सारी तैयारियां की जा रही हैं। लखीमपुर खीरी के तिकोनिया क्षेत्र में हुई ङ्क्षहसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद वहां जाने के दौरान रास्ते में हिरासत में लीं गईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा 40 घंटे बाद भी पुलिस अभिरक्षा में हैं। 

‘पैंडोरा पेपर्स’ को लेकर सरकार पर बढ़ा ब्लैक मनी से निपटने के सिस्टम को मजबूत करने का दबाव

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

अजय मिश्रा की बर्खास्तगी, बेटे की गिरफ्तारी की मांग दोहराई
कांग्रेस ने लखीमपुर खीरी की हिंसा और प्रियंका गांधी वाद्रा को हिरासत में लिए जाने को लेकर मंगलवार को सरकार पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि अब तक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त क्यों नहीं किया गया और उनके बेटे की गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई। पार्टी ने यह आरोप भी लगाया कि इस मामले में राज्य सरकार की ओर से जिस जांच की घोषणा की गई वह एक महज ‘कागजी कार्रवाई’ भर है। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को लखीमपुरी खीरी जाएगा और इस संदर्भ में राज्य सरकार से अनुमति मांगी गई है। 

हाई कोर्ट की हरी झंडी के बाद केजरीवाल सरकार ने फाइल फिर से उपराज्यपाल को भेजी

इस बीच, पिछले 40 घंटों से पुलिस अभिरक्षा में मौजूद प्रियंका गांधी ने एक बयान जारी कर आरोप लगाया है कि उन्हें गैरकानूनी ढंग से हिरासत में रखा गया है और उनके वकीलों को भी उनसे नहीं मिलने दिया गया है। राहुल गांधी ने कहा कि किसानों को गाड़ी से कुचलने वाले केंद्रीय मंत्री के पुत्र को हिरासत में नहीं लिए जाने का मतलब यह है कि देश का संविधान खतरे में है। उन्होंने जोर देकर यह भी कहा कि प्रियंका गांधी एक सच्ची कांग्रेसी हैं और डरने वाली नहीं हैं तथा उनका सत्याग्रह जारी रहेगा। 

लखीमपुर खीरी घटना : जयंत चौधरी बोले- सच को दबा रही है योगी सरकार, लगाया जाए राष्ट्रपति शासन

राहुल गांधी ने लखीमपुर में किसानों को गाड़ी से कुचलने से संबंधित एक कथित वीडियो को साझा करते हुए फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘एक मंत्री का बेटा अगर अपनी गाड़ी के नीचे सत्याग्रही किसानों को कुचल दे, तो देश का संविधान खतरे में है। अगर वीडियो के सामने आने के बाद भी उसे हिरासत में ना लिया जाए तो देश का संविधान खतरे में है। अगर एक महिला नेता को 30 घंटे तक बिना प्राथमिकी के हिरासत में रखा जाए तो देश का संविधान खतरे में है।’’ कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक बयान में कहा, ‘‘मोदी जी, हत्यारे अभी तक गिरफ़्तार क्यों नहीं हुए? इनका संरक्षक केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री योगी अभी तक पदों पर कैसे बने हुए हैं? हत्यारों को गिरफ़्तार कीजिए व दोनों संरक्षकों को बर्खास्त कीजिए। वरना स्वीकार कीजिए कि आप ही इन सबके मुख्य संरक्षक हैं !’’ 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अश्विनी कुमार ने पीड़ित किसान परिवारों के लिए मुआवजे, जांच की घोषणा को लेकर संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम समझते हैं कि यह सिर्फ कागजी कार्रवाई है ताकि लोगों के गुस्से को कम किया जा सके। लेकिन लोगों के आक्रोश को दबाया नहीं जा सकता, इतिहास इस बात का गवाह है।’’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को लखनऊ में थे और उनसे उम्मीद थी कि वह पीड़ित परिवारों से मिलेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा को हिरासत में लिए जाने को गैरकानूनी कदम करार देते हुए मंगलवार को कहा कि तथ्यों से साबित होता है कि उत्तर प्रदेश में कानून का राज नहीं है और वहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का अपना कानून चल रहा है। 

गुजरात दंगा : मोदी को SIT की क्लीन चिट के खिलाफ जाकिया की याचिका पर SC करेगा सुनवाई

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने आरोप लगाया कि लखीमपुरी खीरी में किसानों के साथ जो हुआ, उससे जलियांवाला बाग नरसंहार की याद ताजा हो गई।    उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री मोदी को माफी मांगनी चाहिए। लखीमपुर खीरी के तिकोनिया क्षेत्र में हुई ङ्क्षहसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद वहां जाने के दौरान रास्ते में हिरासत में लीं गईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा सोमवार सुबह से पुलिस अभिरक्षा में हैं। गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 

 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.