Sunday, Sep 19, 2021
-->
Rahul on death of 22 patients in Agra hospital immediate action should be taken PRSHNT

UP: आगरा के अस्पताल में 22 मरीजों की मौत पर बोले राहुल, जिम्मेदार लोगों पर तत्काल हो कार्रवाई

  • Updated on 6/8/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना का कहर अब कम हो रहा हैं करीब दो महिने बाद कोरोना के एक लाख से कम मामले सामने ए हैं। लेकिन इस बीच कोरोना आंकड़ों को लेकर कांग्रेस लगातार केंद्र सराकर पर हमलावर है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा के बाद अब पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगरा के एक निजी अस्पताल में कुछ हफ्ते पहले ऑक्सीजन की मॉक ड्रिल के दौरान एक साथ 22 मरीजों की मौत होने संबंधी खबर को लेकर मंगलवर को उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा और कहा कि इस खतरनाक अपराध के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए।

मिसालः कश्मीर का वेयान बना देश का पहला गांव, जहां सौ फीसदी हुआ टीकाकरण 

जिम्मेदार सभी लोगों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही की मांग
उन्होंने जिस खबर का हवाला दिया उसमें कथित वीडियो के आधार पर कहा गया है कि 26 अप्रैल को ऑक्सीजन की मॉक ड्रिल के दौरान 22 मरीजों की मौत हो गई थी।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, भाजपा शासन में ऑक्सीजन व मानवता दोनों की भारी कमी है। इस खतरनाक अपराध के जिम्मेदार सभी लोगों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए। दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं।

अखिलेश यादव लगवाएंगे कोरोना की वैक्सीन, कभी कहा था- भाजपा का टीका

प्रियंका गांधी का सरकार से सवाल
बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर सरकार पर हमला बोला है और ट्वीट कर सरकार से सवाल किए हैं। उन्होंने कोरोना से होने वाले मौत के आंकड़ों पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट कर एक वीडियो भी साझा किया है। उसमें उन्होंने लिखा, कोविड से हुई मौतों के बारे में सरकार के आँकड़ों और श्मशानों-कब्रिस्तानों के आँकड़ों में इतना फर्क क्यों? 

मोदी सरकार ने आँकड़ों को जागरूकता फैलाने और कोविड वायरस के फैलाव को रोकने का साधन बनाने के बजाय प्रोपागैंडा का साधन क्यों बना दिया?

इस ट्वीट के बाद एक और ट्वीट करते हुए प्रियंका गांधी ने लिखा, PM: “मैंने ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी” CM: "ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं। कमी की अफवाह फैलाने वालों की संपत्ति जब्त होगी।" मंत्री: “मरीजों को जरूरत भर ऑक्सीजन दें। ज्यादा ऑक्सीजन न दें।”आगरा अस्पताल: "ऑक्सीजन खत्म थी। 22 मरीजों की ऑक्सीजन बंद करके मॉकड्रिल की।" ज़िम्मेदार कौन?  

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.