Monday, Aug 02, 2021
-->
rahul-why-is-there-not-a-large-scale-investigation-to-prevent-delta-plus-form-prshnt

राहुल का केंद्र से सवाल, डेल्टा प्लस स्वरूप की रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर जांच क्यों नहीं हो रही

  • Updated on 6/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस स्वरूप के कई मामले सामने आने की पृष्ठभूमि में शुक्रवार को केंद्र सरकार से सवाल किया कि इसकी रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर जांच क्यों नहीं हो रही है। उन्होंने ट्वीट किया, डेल्टा प्लस वेरिएंट पर मोदी सरकार से प्रश्न- इसकी जांच व रोकथाम के लिए बड़े स्तर पर टेस्टिंग क्यों नहीं हो रही है। टीके इस पर कितने प्रभावशाली हैं और पूरी जानकारी कब मिलेगी। कांग्रेस नेता ने यह भी पूछा, तीसरी लहर में इसे नियंत्रित करने की क्या योजना है।

उल्लेखनीय है कि कई विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस के इस स्वरूप पर चिंता प्रकट करते हुए कहा है कि यह तीसरी लहर का कारण बन सकता है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी पिछले दिनों वायरस के डेल्टा प्लस स्वरूप को चिंताजनक करार दिया था। 

PM मोदी ने आपातकाल को याद कर कांग्रेस पर किया वार, बताया ‘काला दिन’ 

बेरोजगारी का सामना कर रहे लोग
बता दें कि इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘टॉयकैथॉन-2021 के प्रतियोगियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संवाद के बाद गुरुवार को उन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (एमएसएमई) के क्षेत्र में रोजगार देने वाले ही बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं, किंतु प्रधानमंत्री ध्यान भटकाकर देश के भविष्य के साथ खेल रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, आज एमएसएमई क्षेत्र में रोजगार देने वाले बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं। प्रधानमंत्री अपने नाटक से भारत के वर्तमान से ध्यान भटका रहे हैं और भविष्य के साथ खेल रहे हैं।

केंद्र ने कहा- राज्यों में कोरोना टीकों का वितरण पारदर्शी तरीके से किया गया

खिलौने और गेमिंग उद्योग बहुत बड़ी भूमिका निभा रहे
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने टॉयकैथॉन-2021 के प्रतिभागियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संवाद के बाद अपने संबोधन में कहा कि भारत की वर्तमान सामर्थ्य, उसकी कला-संस्कृति को और भारतीय समाज को आज दुनिया ज्यादा बेहतर तरीके से समझना चाहती है और इसमें खिलौने और गेमिंग उद्योग बहुत बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

उन्होंने परंपरा और प्रौद्योगिकी को शामिल कर चलाये जाने वाले ‘‘आत्मनिर्भर भारत’’ अभियान को बहुत बड़ी ताकत बताते हुए वैश्विक खिलौना बाजार में भारत की हिस्सेदारी बढ़ाने का आह्वान किया।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.