Monday, Jan 20, 2020
railway board canceled plans, changed the decision to shut the poor chariots

रेलवे बोर्ड की योजना रद्द, गरीब रथ को बंद करने का फैसला बदला

  • Updated on 7/20/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रेलवे बोर्ड ने गरीब रथ को बंद करने का अपना फैसला वापस ले लिया है। इससे पूर्व बोर्ड ने 15 जुलाई से काठगोदाम से कानपुर और जम्मूतवी जाने वाली गरीब रथ को एक्सप्रेस ट्रेन के तौर पर चलाने का फैसला लिया था। परन्तु रेलवे ने एलान करते हुए कहा कि इन ट्रेनों को 4 अगस्त से पहले की तरह ही चलाया जाएगा। 

आजम खां योगी राज में ‘भू-माफिया’ घोषित, सपा ने दर्ज कराई कड़ी आपत्ति

आपको बता दें कि 2006 में गरीब रथ ट्रेनों की शुरुआत गरीब जनता को कम कीमतों पर एसी कोच उपलब्ध करवाने के लिए हुई थी। परन्तु इसके बावजूद रेलवे बोर्ड द्वारा गरीब रथ को मेल एक्सप्रेस ट्रेन में बदलने का कार्य किया जा रहा था। वहीं बोर्ड ने कोच की कमी होने का तर्क देते हुए ये फैसला लिया था।

गुजरात: अल्पेश ठाकोर #BJP में शामिल, बोले- कांग्रेस में हो रही थी घुटन

रेलवे ने इसके पहल के दौरान सबसे पहले काठगोदाम और जम्मू तवी के बीच चलने वाली गरीब रथ (12207/08) और कानपुर-काठगोदाम के बीच चलने वाली (12209/10) को बंद करने का फैसला लेते हुए एक्सप्रेस ट्रेन के रुप में चलाना शुरू कर दिया था।

हनुमान चालीसा पाठ को लेकर इशरत जहां निशाने पर, सियासत तेज

परन्तु देश भर में इस फैसले के विरोध के बाद रेलवे बोर्ड ने अपना ये फैसला वापस ले लिया और कहा कि चार अगस्त से दोबारा गरीब रथ की सेवा शुरू हो जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.