Thursday, Jul 16, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 15

Last Updated: Wed Jul 15 2020 10:47 PM

corona virus

Total Cases

968,117

Recovered

612,782

Deaths

24,915

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA275,640
  • TAMIL NADU151,820
  • NEW DELHI116,993
  • KARNATAKA47,253
  • GUJARAT44,648
  • UTTAR PRADESH41,383
  • TELANGANA39,342
  • ANDHRA PRADESH35,451
  • WEST BENGAL34,427
  • RAJASTHAN26,437
  • HARYANA23,306
  • BIHAR20,173
  • MADHYA PRADESH19,643
  • ASSAM18,667
  • ODISHA14,898
  • JAMMU & KASHMIR11,173
  • KERALA9,554
  • PUNJAB8,799
  • CHHATTISGARH4,533
  • JHARKHAND4,246
  • UTTARAKHAND3,785
  • GOA2,951
  • TRIPURA2,183
  • MANIPUR1,700
  • PUDUCHERRY1,596
  • HIMACHAL PRADESH1,341
  • LADAKH1,142
  • NAGALAND902
  • CHANDIGARH619
  • DADRA AND NAGAR HAVELI482
  • ARUNACHAL PRADESH462
  • MEGHALAYA337
  • DAMAN AND DIU314
  • MIZORAM238
  • SIKKIM222
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS171
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
railway claims workers have started returning from up bihar to mumbai gujarat rkdsnt

रेलवे का दावा- यूपी-बिहार से मुबंई, गुजरात के लिए लौटने लगे हैं श्रमिक

  • Updated on 6/26/2020

 

नई दिल्ली/सुनील पाण्डेय। कोविड-19 के बढ़ते कहर के चलते हुए देशव्यापी लॉकडाउन में मुबंई, दिल्ली एवं गुजरात छोडक़र अपने गांव लौटे प्रवासी श्रमिक  एवं कामगार फिर अपने काम पर लौटने लगे हैं। हालांकि कोरोना का कहर मुबंई, दिल्ली और गुजरात में बढ़ता ही जा रहा है। बावजूद इसके यूपी, बिहार एवं गुजरात के श्रमिक मुबंई, दिल्ली एवं गुजरात के लिए रुख कर दिए हैं। 

यस बैंक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में DHFL के प्रमोटरों को कोर्ट ने दिया बड़ा झटका

यूपी के ज्यादातर श्रमिक एवं कामगार मुबंई एवं गुजरात के विभिन्न शहरों के लिए जा रहे हैं। यूपी में गोरखपुर, देवरिया, गोंडा, आदि जिलों के लोग हिम्मत जुटाते हुए अपनी कर्मभूमि की ओर फिर से प्रस्थान कर रहे हैं। इसी प्रकार बिहार  के भी ज्यादातर लोग मुबंई एवं गुजरात के लिए कोरोना की जंग के बीच ट्रेनों में चढ़ गए हैं। जबकि, पश्चिम बंगाल के विभिन्न शहरों के श्रमिक मुबंई के लिए शुरुआत कर दिए हैं। ये सभी लोग 1 जून से चलाई गई स्पेशल ट्रेनों के जरिये वापसी कर रहे हैं। 

कांग्रेस का आरोप- पीएम मोदी को सीमाओं से ज्यादा अपनी इमेज की है चिंता

इनकी वापसी से भारतीय रेलवे भी गदगद हैं, क्योंकि स्पशेल ट्रेनें दिल्ली एवं मुबंई से तो फुल जा रही हैं लेकिन वापसी ज्यादातर खाली ही लौट रही हैं। जानकारी के मुताबिक प्रवासी मजदूर अपने खर्चे पर भारतीय रेलवे द्वारा चलाई गई स्पेशल ट्रेनों से अपने कार्य स्थल पर जा रहे हैं। अधिकांश मजदूर मुख्यत: चार प्रमुख राज्यों कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, और पंजाब की तरफ जा रहे हैं। 

दिल्ली में अब जुलाई में भी बंद रहेंगे स्कूल, केजरीवाल सरकार का ऐलान

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष के  मुताबिकयूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल से इन चार राज्यों को जाने वाली स्पेशल अधिकांश ट्रेनें सौ प्रतिशत से ज्यादा आक्युपेंसी पर चल रही हैं। यह भारतीय रेलवे एवं देश की अर्थव्यवस्था के लिए भी एक अच्छा संकेत माना जा रहा है। इसके अलावा भारतीय रेलवे रेगुलर यात्री ट्रेनों को चलाने की बजाय स्पेशल ट्रेनों को चलाने पर विचार कर रहा है। 

कोरोना टेस्ट को लेकर ICMR पर जमकर बरसीं किरण मजूमदार शॉ, दागे सवाल

रेलवे का कहना है कि जहां जरूरत होगी वहां से स्पेशल ट्रेन टाइम टेबल के आधार पर चलाया जाएगा। इसको लेकर रेल मंत्रालय देश के सभी राज्यों से बात कर रहा है और उनकी जरूरत जहां से होगी, वहां के हालात को देखते हुए भारतीय रेलवे स्पशेल ट्रेनों को चलाना शुरू करेगा। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव भी कहते हैं कि वह वर्तमान हालात में स्पेशल ट्रेनों को ही चलाने पर विचार कर रहे हैं। कोरोना के मद्देनजर राज्य सरकारों से चर्चा के बाद रेलवे अंतिम फैसला जल्द देगा। 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को लेकर CM बघेल की PM मोदी से अपील

 

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.