Monday, Mar 30, 2020
Railway employees indian railway Railway

अब रेलवे कर्मचारी स्मार्ट हेल्थ कार्ड से देश में कहीं भी करा सकेंगे इलाज

  • Updated on 10/3/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। रेलवे देने जा रही है अपने कर्चारियों को बड़ी सौगात जिसके चलते रेलवे कर्मचारी और उनके परिवार के लोगों को इलाज के लिए अब सिर्फ रेलवे अस्पतालों पर निर्भर नहीं रहना होगा। रेलवे ने अपने कर्मचारियों का ध्यान रखते हुए युनिक मेडिकल आईडेंटिटी कार्ड की सुविधा शुरू की है। जिसके चलते रेलकर्मियों, सेवानिवृत्त कर्मियों के साथ-साथ उनके परिवार के सदस्यों के भी अलग-अलग कार्ड बनाए जाएंगे। ये पूरी प्रक्रिया रजिस्ट्रेशन के बाद ही शुरू हो सकेगी। 

नई दिल्ली से कटरा के लिए रवाना हुई वंदे भारत एक्सप्रेस, अमित शाह ने दिखाई हरी झंडी

आपको बता दें कि रेलवे ने इस कार्ड को उम्मीद कार्ड नाम दिया है। यह वेब और मोबाइल आधारित स्वास्थ्य सेवा योजना है। जिसके चलते रेलवे से संबंधित सभी कर्मचारियों व अधिकारियों और उनके परिवार वाले देश में उपस्थित रेलवे एवं पैनल्ड अस्पतालों या डिस्पेंसरियों में इलाज करवा सकते हैं। इस कार्ड को प्राप्त करने के बाद इलाज कराने के दौरान अतिरिक्त समस्या से बचा जा सकता है।

स्वच्छता सर्वेक्षण में फिसड्डी निकले दिल्ली के रेलवे स्टेशन, शीर्ष पर रहा राजस्थान

मौजूदा समय में रेलकर्मियों और उनके परिवार वालों को इलाज के लिए स्मार्ट कार्ड की जगह कागजी मेडिकल कार्ड दिया जाता है, इसमें कर्मचारी और उसके परिवार की फोटो लगी होती है। कार्ड के आधार पर ही ओपीडी पर्ची एवं अन्य चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं। लेकिन अब रेलवे इस प्रणाली को और सरल कर वेब और मोबाइल आधार क्यू आर कोड वाले स्मार्ट हेल्थ कार्ड उपलब्ध कराने जा रही है।

comments

.
.
.
.
.