Saturday, Jul 31, 2021
-->
railway suffering from corona 1952 employees killed federation pleads to piyush goyal rkdsnt

कोरोना से रेलवे भी बेहाल: 1952 कर्मचारियों की मौत, फेडरेशन ने पीयूष गोयल से लगाई गुहार

  • Updated on 5/10/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से भारतीय रेल के 1952 कर्मचारी अब तक जान गंवा चुके हैं और रोजाना करीब 1000 कर्मचारी संक्रमित हो रहे हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। रेलवे न सिर्फ भारत बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा नियोक्ता है, जिसमें 13 लाख कर्मचारी काम करते हैं। 

सत्येंद्र जैन के बाद AAP MLA आतिशी ने दिल्ली में कोवैक्सीन स्टॉक को लेकर लगाई गुहार

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा, 'रेलवे किसी अन्य राज्य या क्षेत्र से अलग नहीं है और हम भी कोविड के मामले झेल रहे हैं। हम परिवहन का काम करते हैं और सामान व लोगों को लाते और ले जाते हैं। रोजाना करीब 1000 (कोविड) मामले सामने आ रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, 'हमारे अपने अस्पताल हैं, हमने बिस्तरों की संख्या बढ़ाई है, रेल अस्पातलों में ऑक्सीजन संयंत्र बनाए हैं। हम अपने कर्मचारियों का ध्यान रखते हैं। फिलहाल 4000 रेलवे कर्मी या उनके परिवार के सदस्य इन अस्पतालों में भर्ती हैं। हमारा प्रयास यह है कि वो जल्दी ठीक हों। पिछले साल मार्च से कल तक 1952 रेल कर्मचारियों की कोविड-19 महामारी से जान जा चुकी है।’’ 

कांग्रेस, एनसीपी ने कोरोना से निपटने के लिए ‘एक देश, एक नीति’ पर दिया जोर

ऑल इंडिया रेलवेमेन्स फेडरेशन नाम के एक रेलकर्मचारियों के संघ ने कुछ दिनों पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर मांग की थी कि कोरोना वायरस संकट के दौरान काम करते हुए जान गंवाने वाले रेलकर्मचारियों के परिजनों को अंग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों की तरह ही मुआवजा दिया जाए। उन्होंने पत्र में कहा कि जैसा कि अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों के लिये घोषणा की गई है, ये कर्मी भी 50 लाख रुपये के मुआवजे के हकदार हैं, न कि 25 लाख रुपये के जो उन्हें अभी दिया जा रहा है।

फिलहाल सोनिया गांधी ही निभाती रहेंगी कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.