Tuesday, Jul 23, 2019

RTI से खुलासा, रद्द टिकटों से रेलवे ने 1,536 करोड़ रूपये से ज्यादा कमाए

  • Updated on 7/12/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। रेलवे (Railway) को यात्री टिकटों की बिक्री के साथ ही टिकट निरस्त किये जाने से भी मोटी कमाई हो रही है। सूचना के अधिकार (RTI) से पता चला है कि वित्त वर्ष 2018-19 में टिकट रद्द किये जाने के बदले यात्रियों से वसूले गये प्रभार से रेलवे के खजाने में लगभग 1,536.85 करोड़ रुपये जमा हुए।  

तबरेज अंसारी केस में नया खुलासा, मौत का कारण ब्रेन हेमरेज डॉक्टरों और पुलिस ने भी की लापरवाही

टिकट कैंसिल से हुई रेलवे को मोटी कमाई 

मध्यप्रदेश (madhya pradesh) के नीमच निवासी आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ (chandrashekhar gaur) ने शुक्रवार को बताया कि उन्हें रेल मंत्रालय (Railway ministry) के रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र (CRIS) से अलग-अलग अर्जियों पर यह जानकारी मिली है। आरटीआई आवेदन में पूछे गये सवालों के जवाब के मुताबिक रेलवे ने आरक्षित टिकटों के निरस्तीकरण से 1,518.62 करोड़ रुपये कमाए।

सपा सांसद आजम खान ने किया किसानों की जमीन पर कब्जा, केस दर्ज

UTS प्रणाली

अनारक्षित टिकटिंग प्रणाली (UTS) के तहत बुक यात्री टिकटों को रद्द कराये जाने से रेलवे ने 18.23 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया। गौड़ ने अपनी आरटीआई अर्जी में रेलवे से यह भी जानना चाहा था कि क्या टिकट रद्द करने के बदले यात्रियों से वसूले जाने वाले शुल्क को घटाने के किसी प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है?

पूर्व फौजी बीजेपी के 'नेशन फर्स्ट' पॉलिसी से है प्रभावितः मनोज तिवारी

आरटीआई कार्यकर्ता (RTI activist) ने कहा, इस सवाल के जवाब का मुझे अब तक इंतजार है। रेल टिकट रद्द (Rail ticket cancellation) करने के बदले यात्रियों से वसूले जाने वाले शुल्क को व्यापक जनहित में जल्द घटाया जाना चाहिये।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.