Saturday, Jul 20, 2019

दिल्ली गुरुग्राम रैपिड रेल प्रोजेक्ट को राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने दी मंजूरी

  • Updated on 6/29/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) को हाईस्पीड रैपिड रेल के जरिये त्वरित परिवहन सेवा से जोडऩे के लिये दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबी अर्बन कॉंप्लेक्स रैपिड रेल परियोजना की विस्तृत कार्ययोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को राजस्थान सरकार ने शनिवार को मंजूरी दे दी। 

टीम इंडिया की केसरिया रंग की जर्सी को लेकर कोहली ने दी पहली प्रतिक्रिया

आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय की इस परियोजना को पूरा करने वाली एजेंसी, एनसीआर परिवहन निगम (एनसीआरटीसी) के प्रवक्ता सुधीर शर्मा ने बताया कि 106 किलोमीटर लंबे इस रैपिड रेल मार्ग की डीपीआर को पिछले साल दिसंबर में निगम के बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद परियोजना के भागीदार तीन राज्यों की सरकारों को मंजूरी के लिये भेजा गया था। उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार से डीपीआर को इस साल फरवरी में ही मंजूरी मिल चुकी है। जबकि दिल्ली सरकार की मंजूरी का इंतजार है। 

BS-6 मानकों का वाहन उद्योग पर असर, सस्ते में बिगेंगे पुराने स्टाक

उल्लेखनीय है कि दिल्ली एनसीआर क्षेत्र को रैपिड रेल से जोडऩे के लिये मंत्रालय ने दिल्ली-मेरठ, दिल्ली-पानीपत और दिल्ली-अलवर रैपिड रेल परियोजनाओं को अंजाम देने के लिये एनसीआरटीसी का गठन किया है। इनमें से दिल्ली मेरठ रैपिड रेल परियोजना पर काम शुरु हो चुका है।

अधिकारी को पीटने वाले #BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय को मिली जमानत

शर्मा ने बताया दिल्ली अलवर परियोजना को तीन भागों में पूरा किया जाना है। पहले खंड में दिल्ली से गुरुग्राम और एसएनबी अर्बन कॉंप्लेक्स को जोड़ा जायेगा। दूसरे खंड में एसएनबी अर्बन कॉंप्लेक्स से सोता नाला और तीसरे खंड में एसएनबी अर्बन कॉंप्लेक्स से अलवर को रैपिड रेल सेवा से जोड़ा जायेगा। 

भाजपा कार्यकारी अध्यक्ष नड्डा ने आम आदमी पार्टी पर साधा निशाना

डीपीआर के मुताबिक पहले खंड के रेलमार्ग में दिल्ली स्थित सराय काले खां से एसएनबी अर्बन कॉंप्लेक्स तक 106 किमी लंबे मार्ग का 71 किमी हिस्सा एलेवेटिड होगा। इस पर 11 स्टेशन होंगे जबकि पांच स्टेशन वाला शेष 35 किमी का हिस्सा भूमिगत होगा। अधिकांश भूमिगत हिस्सा दिल्ली और गुरुग्राम के बीच होगा। 

बैट के इस्तेमाल को लेकर आकाश विजयवर्गीय पर CM कमलनाथ ने कसा तंज

इस खंड पर प्रस्तावित प्रमुख स्टेशन सराय काले खां, जोरबाग, मुनीरका, एयरोसिटी, उद्योग विहार, खेड़की दौला, पंचगांव और बावल होंगे। डीपीआर के अनुसार इस परियोजना के पूरा होने बाद 160 किमी प्रति घंटे की अधिकतम और 100 किमी प्रति घंटे की औसत गति वाली रेल सेवा के जरिये दिल्ली से एसएनबी का सफर 70 मिनट में पूरा किया जा सकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.