Thursday, Jan 20, 2022
-->
rajasthan government granted indian citizenship to 8 people from pakistan

CAA का विरोध कर रही राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने PAK के 8 लोगों को दी नागरिकता

  • Updated on 12/31/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हाल ही में भारत (India) में नागरिकता कानून (CAA) में संशोधन किया गया है। इस कानून के तहत पाकिस्तान (Pakistan), बांग्लादेश (Bangladesh) और अफगानिस्तान (Afghanistan) के लाखों गैर-मुसलमानों (Anti Muslims) को भारतीय नागरिकता दी जाएगी। जहां एक ओर सीएए को लेकर कांग्रेस सहित समूचा विपक्ष रोजाना विरोध प्रदर्शन कर रही है, वहीं राजस्थान (Rajasthan) की कांग्रेस सरकार (Congress Government) ने कोटा (kota) में पाकिस्तान से भारत आए 8 लोगों को नागरिकता दी है।

बांग्लादेश के अल्पसंख्यकों ने CAA का किया समर्थन, बताया मानवतावादी कानून

कोटा के जिला कलेक्टर ओम प्रकाश कसेरा (Om Prakash Kasera) ने बताया कि जिन 8 लोगों को भारत की नागरिकता दी गई, वो सभी पाकिस्तान से आए थे और साल 2000 ये यहीं रह रहे हैं। बता दें कि कांग्रेस (Congress) की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार के गृह विभाग ने ही उन्हें नागरिकता देने का आदेश जारी किया है। इसके लिए एक समय में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा था। इसके बाद आज खबर है कि सभी को भारतीय नागरिकता दी गई है। 

दानिश कनेरिया के साथ हुए भेदभाव पर भड़के गौतम गंभीर, कहा-यही है PAK का असली चेहरा

CAA के जरिए गैर-मुसलमानों को मिलेगा अधिकार
नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के अनुसार, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक कारणों से सताए जाने के बाद वहां से भागकर 31 दिसंबर, 2014 तक भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को देश की नागरिकता दी जाएगी। इस कानून के जरिए भारत ने हाल के वर्षों में बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भागकर आए लाखों गैर-मुसलमानों के प्रति अपने कर्तव्य की आंशिक पूर्ति की है। ये वे शरणार्थी हैं, जो भारत में अपने अधिकारों के लिए दावा नहीं कर सकते थे। सीएए ने उन्हें अधिकार दिए हैं।

दानिश कनेरिया विवाद पर बोले योगी सरकार के मंत्री- CAA के तहत भारत आना चाहें तो स्वागत

CAA के विरोध में कांग्रेस 
गौरतलब है कि कांग्रेस सीएए (CAA) को 'असंवैधानिक' करार देते हुए इसका खुलकर विरोध कर रही है।गुवाहाटी (Guwahati) में राहुल गांधी ने कहा था, 'यह सब माहौल क्यों है? मैं बताता हूं...इसलिए कि इनका (बीजेपी सरकार) लक्ष्य है कि असम की जनता को लड़ाओ...हिंदुस्तान की जनता को लड़ाओ। ये जहां भी जाते हैं वहां सिर्फ नफरत ही फैलाते हैं। लेकिन असम नफरत से आगे नहीं बढ़ेगा। गुस्से से आगे नहीं बढ़ेगा। यह प्यार से आगे बढ़ेगा।'  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.