Friday, Apr 19, 2019

राजस्थान के सीएम होंगे अशोक गहलोत, सचिन पायलट बनेंगे उप-मुख्यमंत्री

  • Updated on 12/14/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मध्यप्रदेश में कमलनाथ के मुख्यमंत्री चुनने के बाद आज यानी शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान के लिए भी मुख्यमंत्री पद के लिए चल रही खींचातान पर विराम लगा दिया है। शुक्रवार को हुई कांग्रेस की बैठक में अशोक गहलोत को राजस्थान का सीएम के रुप में चुन लिया गया है जबकि सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री के पद से ही संतोष करना पड़ा है।

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के सीम पद पर उम्मीदवारी को लेकर गुरुवार को पूरे दिन राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के नेताओं की बैठक का दौर जारी रहा। रात करीब 11.30 बजे मध्यप्रदेश के सीएम का ऐलान हुआ जबकि अगले दिन राजस्थान से भी पर्दा उठा दिया गया है। अब राहुल गांधी के सामने सिर्फ छत्तीसगढ़ की गुत्थी है जिसे आज शाम तक ही सुलझाने का अंदेशा है।

Updates...

  • राहुल गांधी ने गहलोत और पायलट के साथ शेयर की फोटो
  • मैराथन मीटिंग के बाद राहुल गांधी के घर से निकले गहलोत और पायलट
  • राजस्थान: पर्यवेक्षक अविनाश पांडेय करेंगे प्रेसवार्ता, सीएम के नाम का ऐलान संभव
  • राजस्थान के डिप्टी सीएम होंगे सचिन पायलट
  • अशोक गहलोत होंगे राजस्थान के नए सीएम

 

राजस्थान में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार को चुनने को लेकर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। राजस्थान में सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच सस्पेंस जारी है।

मध्यप्रदेश की सत्ता तक पहुंचा कमलनाथ का पंजा, आज लेंगे सीएम पद की शपथ

छत्तीसगढ़ में सीएम पद की चुनौती से निपटने के लिए कांग्रेस आलाकमान मल्लिकार्जुन खड़गे को भेज रही है। पार्टी ने नतीजे आने के बाद देर रात उन्हें ऑब्जर्वर नियुक्त किया है। उन्हें जिम्मेदारी दी गई है कि वह नवनिर्वाचित विधायकों के साथ बैठक कर विधायक दल के नेता पर राय बनाएं और आलाकमान को रिपोर्ट दें। साथ ही नाराज नेताओं को मनाने का प्रयास करें।

CM पद की शपथ लेने से पहले ही कमलनाथ पर शिअद नेता ने लगाए गंभीर आरोप

राजस्थान में सीएम को लेकर कल पूरे दिन रस्साकशी चलती रही। बताया जा रहा है कि एक बार के लिए गहलोत को सीएम बनाने की चर्चा जोरों पर हो गई थी। हालांकि इस फैसले पर पायलट नहीं माने जिसके चलते गहलोत को द्वारा चर्चा के लिए वापस राहुल गांधी के आवास पर बुला लिया गया।

विधानसभा चुनाव में शिकस्त खाने के बाद मोदी सरकार देगी GST में राहत

सचिन पायलट का कहना है कि उन्हें जाति धर्म के आधार पर नहीं आंका जाए। इसके साथ ही उन्होंने गहलोत का हवाला देते हुए कहा कि पिछले चुनाव में और 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी गहलोत के नेतृत्व में चुनाव हार गई थी। बता दें कि पायलट के समर्थन में काफी युवा शक्ति है जिसका कहना है कि वे बस पायलट को ही राजस्थान का सीएम देखना चाहते हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.