Sunday, Feb 23, 2020
rajnath say to no one will touch indian muslims, we do not do politics of religion

CAA: राजनाथ सिंह ने एक रैली के दौरान कहा- भारतीय मुसलमानों को कोई छू तक नहीं पाएगा

  • Updated on 1/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर देशभर में हो रहे विरोध-प्रदर्शन की एक अहम वजह ये भी है, कि देश के एक समुदाय में इस कानून के लेकर ड़र का माहौल बना हुआ है। कानून के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की ओर से आयोजित रैली को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath singh) ने बुधवार को मेरठ (Meerut) में कहा कि किसी भी भारतीय मुसलमान को कोई छू तक नहीं पाएगा और उन्होंने इस आशंकाओं को नकारा कि अगर एनपीआर (NPR और एनआरसी (NRC) को लाया जाता है तो समुदाय को निशाना बनाया जाएगा।

CAA: आजादी के नारे लगाने वालों पर चलेगा देशद्रोह का मुकदमाः योगी आदित्यनाथ

हम सरकार नहीं, बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करते हैं
उन्होंने कहा, 'हम सरकार नहीं, बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करते हैं। मेरठ के माधवकुंज मैदान में संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित जन जागरण रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि हमने (पिछली सरकार में) नागरिकता संशोधन कानून बनाया था लेकिन उस दौरान यह लागू नहीं हो सका था और इस बार हमने इसे कर दिखाया।

CAA पर कांग्रेस देश को भ्रमित करने में है जुटीः केशव प्रसाद मोर्य

हम धर्म या मजहब की राजनीति कर स्वार्थ नहीं साधते
उन्होंने कहा, 'इस कानून को अब हिन्दू मुस्लिम के नजरिए से देखा जा रहा है। हमारे प्रधानमंत्री धर्म से इतर न्याय की बात करते हैं। गांधी जी ने भी कहा था कि धर्म के आधार पर विभाजन नहीं होना चाहिए। टुकड़े टुकड़े करने के नारे लगाए जा रहे हैं। सारी दुनिया भारत की ताकत स्वीकार कर रही है।' सिंह ने कहा, 'हम धर्म या मजहब की राजनीति कर स्वार्थ नहीं साधते।' 

CAA: गृह मंत्री के बहस की चुनौती पर कांग्रेस समेत सभी दलों ने किया पलटवार

देर से आया हूं लेकिन दुरुस्त आया हूं
राजनाथ ने सवाल करते हुए कहा कि क्या नागरिकों का रजिस्टर नहीं होना चाहिए? सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए डॉक्यूमेंट होना चाहिए या नहीं।  रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक अल्पसंख्यक जलालत की जिंदगी जी रहे हैं और भारत ने अपने धर्म का पालन किया है। निर्धारित समय से विलंब से आये सिंह ने अपने भाषण की शुरुआत में कहा कि देर से आया हूं लेकिन दुरुस्त आया हूं।

कन्हैया कुमार ने #CAA को लेकर अमित शाह की चुनौती पर किया कटाक्ष 

मेरठ क्रांतिकारियों की धरती है। क्रांति का शंखनाद यही से हुआ
उन्होंने आगे कहा, 'मेरठ क्रांतिकारियों की धरती है। क्रांति का शंखनाद यही से हुआ था। भाजपा इस धरती की अहमियत समझती है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी सार्वजनिक सभाओं का शुभारंभ क्रांतिकारियों की धरती से किया था। उन्होंने कहा, '2014 और 2019 में (चुनावी) सभा यहीं से शुरू हुई। कोई भी राजनीतिक पार्टी चुनाव में उतरती है और तरह तरह के वादे करती है। लेकिन, जनता को यकीन दिलाना चाहता हूं कि हमारी पार्टी जो कहेगी उसे पूरा भी करेगी।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.