Friday, Jan 24, 2020
Rajnath singh S jayashankar two pluc two talk Narendra modi pmo

राजनाथ सिंह ने की जापान के रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री से मुलाकात

  • Updated on 11/30/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath singh) और विदेश मंत्री एस जयशंकर (S jayashankar) ने जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी और रक्षा मंत्री तारो कोनो से मुलाकात की है। बता दें कि इस टू प्लस टू वार्ता का मुख्य फोकस हिंद प्रशांत क्षेत्र समेत सामरिक रुप से अहम जल क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर है।  

फडणवीस का उद्धव पर हमला कहा- शपथ सही तरीके से नहीं ली गई

सुरक्षा पर भी की समीक्षा
साथ ही उन्होंने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में उत्पन्न सुरक्षा परिद्दश्य की भी समीक्षा की। भारत और जापान दोनों देश हिंद-प्रशांत (Indo-Pacific) में क्षेत्रीय शांति, समृद्धि एवं स्थिरता के लिए व्यापक एवं वृहद द्दष्टिकोण तैयार करने पर जोर दे रहे हैं। हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन तेजी से सैन्य एवं आर्थिक प्रभाव का विस्तार कर रहा है जिससे क्षेत्र एवं उससे अलग विभिन्न देशों में चिंताएं बढ़ गई हैं। सिंह-कोनो की बैठक में दोनों पक्षों ने समुद्री सुरक्षा सहयोग को और बढ़ाने पर भी फैसला किया।  

हैदराबाद बलात्कार-हत्या कांड: प्रज्ञा ठाकुर ने की दोषियों को सख्त सजा देने की मांग

सेना के बीच हुए समझौते
भारत, जापान और अमेरिका वार्षिक मालाबार समुद्री अभ्यास का हिस्सा रहे हैं जिसका उद्देश्य तीनों देशों की नौसेनाओं (navies) के बीच आपस में संचालन समन्वय को और बेहतर करना था। अधिकारियों ने बताया कि दोनों मंत्रियों ने प्रौद्योगिकी हस्तांतरण ढांचे के तहत हथियार एवं सैन्य हार्डवेयर (Hardware) के विकास में संबंधों को बढ़ाने पर भी चर्चा की। रक्षा संबंधों में बढ़ते सामंजस्य के मद्देनजर दोनों सामरिक सहयोगी पहले ही सैन्य मंचों के संयुक्त विकास का फैसला कर चुके हैं। बताया जाता है कि दोनों पक्षों ने लंबे समय से लंबित यूएस-2 एम्फीबियस विमान की जापान द्वारा भारत को आपूर्ति के मुद्दे पर भी चर्चा की। 
 

comments

.
.
.
.
.