Wednesday, Oct 20, 2021
-->
rajnath singh will address the rajya sabha today amid the ongoing tension over lac sohsnt

चीन सीमा विवाद पर राज्यसभा में राजनाथ सिंह बोले- भारत हर बड़ा कदम उठाने के लिए तैयार

  • Updated on 9/17/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर जारी तनाव पर आज देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने राज्यसभा में बयान दिया। उन्होंने कहा कि सदन इस बात से अवगत है कि भारत और चीन सीमा का प्रश्न अभी तक अनसुलझा है। दोनों देशों की बाउंड्री का कस्टमरी और ट्रेडिशनल अलाइनमेंट चीन नहीं मानता है। यह सीमा रेखा अच्छे से स्थापित भौगोलिक सिद्धांतों पर आधारित है।

इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने कहा कि देश हित में चाहे जितना बड़े से कड़ा कदम उठाना पड़े भारत पीछे नहीं हटेगा।  उन्होंने कहा कि भारत न तो अपना मस्तक झुकने देगा और न ही हमारी नीति कभी किसी के मस्तक को झुकाने की रही है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, खुद को किया Isolate

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाउंड्री को लेकर कही ये बात
रक्षा मंत्री ने कहा कि चीन मानता है कि बाउंड्री अभी भी औपचारिक तरीके से निर्धारित नहीं है। उसका मानना है कि हिस्टोरिक्ल जुरिस्डिक्शन के आधार पर जो ट्रेडिश्नल कस्टमरी लाइन है उसके बारे में दोनों देशों की अलग व्याख्या है। 1950-60 के दशक में इस पर बातचीत हो रही थी पर कोई समाधान नहीं निकला। सदन को जानकारी है कि पिछले कई दशकों में चीन ने बड़े पैमाने पर इन्फ्रास्ट्रक्चर एक्टिविटी शुरू की है, जिससे बॉर्डर एरिया में उनकी तैनाती की क्षमता बढ़ी है। इसके जबाव में हमारी सरकार ने भी बॉर्डर इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास का बजट बढ़ाया है, जो पहले से लगभग दोगुना हुआ है।'

राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस को लेकर प्रियंका गांधी ने सरकार से की ये मांग, कहा- नहीं तो...

लद्दाख में एक चुनौती के दौर से गुजर रहे हैं- रक्षामंत्री
उन्होंने सदन को जानकारी देते हुए बताया कि, 'यह सच है कि हम लद्दाख में एक चुनौती के दौर से गुजर रहे हैं लेकिन साथ ही मुझे भरोसा है कि हमारा देश और हमारे वीर जवान इस चुनौती पर खरे उतरेंगे। मैं इस सदन से अनुरोध करता हूं कि हम एक ध्वनि से अपनी सेनाओं की बहादुरी और उनके अदम्य साहस के प्रति सम्मान प्रदर्शित करें। इस सदन से दिया गया, एकता व पूर्ण विश्वास का संदेश, पूरे देश और पूरे विश्व में गूंजेगा, और हमारे जवान, जो कि चीनी सेनाओं से आंख से आंख मिलाकर अडिग खड़े हैं, उनमें एक नए मनोबल, ऊर्जा व उत्साह का संचार होगा।'

जब पीएम मोदी ने बोला था मेरे पास कार के किराए के नहीं हैं पैसे, मगर डिबेट में आने को हूं तैयार

लोकसभा में बयान दे चुके हैं रक्षा मंत्री
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इससे पहले लोकसभा में बयान दे चुके हैं। मालूम हो कि उन्होंने बीते मंगलवार को अपने बयान में कहा था कि सीमा पर हम चुनौती का सामना कर रहे हैं, लेकिन हमारे सशस्त्र बल देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए डटकर खड़े हैं। इसके साथ ही उन्होंने बयान देते हुए कहा कि इस सदन को प्रस्ताव पारित करना चाहिए कि यह सदन और सारा देश सशस्त्र बलों के साथ है जो देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए डटकर खडे़ हैं।

comments

.
.
.
.
.