पंजाब में कांग्रेस को झटका, राजविंदर सिंह लक्की अकाली दल में शामिल

  • Updated on 1/17/2019

नई दिल्ली/सुनील पांडेय। पंजाब कांग्रेस के यूथ नेता राजविंदर सिंह लक्की आज अकाली दल में शामिल हो गए। उनके साथ बलाचैर यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक चेची, पूर्व ब्लॉक समिति मैंबरों में कुमार तथा विरेंद्र कटारिया समेत उनकी पूरी टीम ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया। दिल्ली स्थित सांसद चंदूमाजरा के सरकारी आवास पर अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने उन्हें पार्टी में शामिल करवाया। 

राजविंदर सिंह बलाचौर विधानसभा से वर्ष 2012 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे। इस मौके पर यूथ नेता ने कांग्रेस से मोहभंग होने के बारे में बताया कि कांग्रेस ने नौजवानों से किए सभी वायदों से मुकर कर उनके साथ विश्वासघात किया है। घर घर नौकरी की तो बात ही छोड़ दो कांग्रेस सरकार ने पिछले दो सालों के दौरान नौजवानों को कोई नौकरी नही दी है। यहां तक नौजवानों से किया बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा भी खोखला साबित हुआ है। 

पश्चिमी यूपी और पंजाब में 7 जगहों पर NIA की छापेमारी, ISIS मॉड्यूल का बड़ा खुलासा

इस मौके पर शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि ऐसे नौजवान नेता के आने से पार्टी मजबूत हुई है, जो पंजाब यूनिवर्सिटी यूनियन के अध्यक्ष की जिम्मेवारी निभा चुके हैं। इसके अलावा वह स्टेट यूथ कांग्रेस के जनरल सचिव रह चुके हैं। बादल ने पंजाबियों से अपील की कि वह कांग्रेस के दोबारा से देश की सत्ता हासिल करने के इरादे को विफल कर दें। उन्होने कहा कि कांग्रेस पार्टी का एक एकल एजेंडा जगदीश टाइटलर तथा कमलनाथ समेत 1984कत्लेआम के दोषियों को बचाना है। 

कांग्रेस के नापाक इरादों को नाकाम करने के लिए सभी पंजाबियों को एकजुट होना चाहिए। यह पार्टी गांधी परिवार को बचाने पर तुली हुई है, जोकि 1984 में दिल्ली तथा देश के दूसरे हिस्सों में 3 हजार सिखों के सामूहिक कत्लेआम के लिए सीधे तौर पर जिम्मेवार हैं। इस अवसर पर अन्य के अलावा पार्टी सांसद बलविंदर सिंह भूंदड़ तथा जनरल सचिव मनजिंदर सिंह सिरसा भी उपस्थित थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.