Wednesday, Apr 14, 2021
-->
rakesh tikait campaign against agricultural laws in bjp rss stronghold gujarat rkdsnt

युद्ववीर के बाद BJP के गढ़ गुजरात में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रचार करेंगे राकेश टिकैत

  • Updated on 4/4/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने गुजरात का अपना दो दिवसीय दौरा रविवार को बनासकांठा जिले में मां अंबाजी मंदिर में मत्था टेकने के साथ शुरू किया। टिकैत इस दौरान तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रचार करेंगे। टिकैत ने गुजरात की सीमा में प्रवेश करने के दौरान भाजपा और केंद्र पर परोक्ष तौर पर निशाना साधने के लिए पत्रकारों को अपना पासपोर्ट दिखाया और कहा कि यदि गुजरात में प्रवेश करने के लिए इसकी आवश्यकता पड़ी, तो उसे ध्यान में रखते हुए वह इसे लेकर आए हैं। 

ममता ने पूछा- पीएम मोदी क्या भगवान हैं जो रिजल्ट की कर रहे हैं भविष्यवाणी

टिकैत पड़ोसी राज्य राजस्थान के आबू रोड स्टेशन पर ट्रेन से उतरे, जहां किसानों ने उनका स्वागत किया। टिकैत से जब पूछा गया कि क्या वह कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट लेकर आये हैं, जो गुजरात में यात्रा करने के लिए रखना अनिवार्य है, तो उन्होंने हां में जवाब दिया और कहा, ‘‘मेरे पास सभी दस्तावेज हैं। यह मेरा पासपोर्ट है, यदि गुजरात में प्रवेश करने के लिए इसकी आवश्यकता हो।’’ 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सरकारी बैंकों को लगेगी 2,000 करोड़ रुपये की ‘चोट’

 

परमबीर सिंह की याचिका पर सोमवार को फैसला सुनाएगी बॉम्बे हाई कोर्ट 

टिकैत दिन में बाद में पालनपुर में किसानों को संबोधित करने वाले हैं।     केंद्र के कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ सैकड़ों किसान पिछले साल नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं। प्रदर्शनकारी किसान अपनी उपज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी के साथ ही तीनों कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं। केंद्र सरकार और किसान यूनियनों के बीच 10 से अधिक दौर की बातचीत गतिरोध खत्म करने में विफल रही है।

 मुख्तार अंसारी एंबुलेंस प्रकरण की जांच करेगी यूपी पुलिस की SIT

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.