Tuesday, Mar 26, 2019

पत्रकार की हत्या के मामले में गुरमीत राम रहीम दोषी करार, 17 जनवरी को सजा का ऐलान

  • Updated on 1/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सीबीआई की एक अदालत ने 2002 में पत्रकार राम चंद्र छत्रपति की हुई हत्या के मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह और तीन अन्य को शुक्रवार को दोषी करार दिया। उन्हें 17 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी।

विशेष सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह ने यहां डेरा प्रमुख और तीन अन्य को इस मामले में दोषी ठहराया।            सीबीआई के वकील एचपीएस वर्मा ने बताया, ‘सभी चार आरोपियों को दोषी ठहराया गया है।’ इस मामले में 17 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी। तीन अन्य आरोपियों में कुलदीप सिंह, निर्मल सिंह और कृष्ण लाल शामिल हैं।

गुरमीत (51) रोहतक की सुरनिया जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश हुआ। वह अपनी दो अनुयायियों से बलात्कार करने के मामले में फिलहाल 20 साल की कैद की सजा काट रहा है। गौरतलब है कि वर्ष 2002 में छत्रपति की उनके आवास के बाहर गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।

दरअसल उनके अखबार ‘पूरा सच’ ने एक पत्र प्रकाशित किया था, जिसमें इस बात का जिक्र किया गया था कि सिरसा स्थित डेरा मुख्यालय में गुरमीत किस तरह से महिलाओं का यौन उत्पीड़न करता था। यह मामला 2003 में दर्ज किया गया था और इसे 2006 में सीबीआई को सौंपा गया था। मामले में गुरमीत को मुख्य षडयंत्रकर्ता नामजद किया गया था।

हरियाणा में लोग अंधाधुन खरीद रहे हथियार, यू.पी. और मध्य प्रदेश से लगातार हो रहे सप्लाई

हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक मोहम्मद अकील ने कहा कि हरियाणा में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। वहीं पुलिस अधिकारी ने कहा कि सभी जिलों की पुलिस को लोगों को गैरजरूरी रूप से जमा होने से रोकने और अतिरिक्त निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि कई इलाकों में नाकेबंदी भी की गई है। पुलिस ने कहा कि सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय के नजदीक अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

 रनहौला दोहरा हत्याकांड: सगे भाई समेत तीन लोग चढ़े स्पेशल सेल के हत्थे

सुरक्षा के दृष्टिगत डेरे की ओर जाने वाले तमाम मार्गों पर 12 से अधिक पुलिस नाके भी स्थापित किए गए हैं। पुलिस के अलावा इंटैलीजैंस ब्यूरो एवं खुफिया एजैंसियों की विभिन्न टीमें भी सक्रिय हैं। केस को देखते हुए शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है।

डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय सिरसा में होने से यहां सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किए जा रहे हैं। 1300 अतिरिक्त पुलिस जवानों की 13 कम्पनियां तैनात की जाएंगी, वहीं सिरसा पुलिस के भी करीब 1000 से अधिक जवान तैनात रहेंगे। स्वयं जिला उपायुक्त प्रभजोत सिंह एवं पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार पूरी स्थिति पर निगाह रखे हुए हैं। 

18 महीने बाद खुला कंस मामा का भेद, गर्लफ्रेंड से नजदीकी बढ़ाने पर भांजे को उतारा मौत के घाट

14 नाकों पर पुलिस का पहरा
सुरक्षा के तहत किए जा रहे इन पुख्ता प्रबंधों के बीच पुलिस की ओर से विभिन्न स्थानों पर 14 नाके लगाए गए हैं। सभी नाकों पर सुरक्षा बलों के साथ-साथ पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया गया है। एस.पी. अरुण सिंह ने सुरक्षा के लिए डी.एस.पी. स्तर के पुलिस अधिकारियों को विशेष हिदायत जारी की है और अब निरंतर पैट्रोलिंग वगैरह की जाएगी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.