Monday, Mar 01, 2021
-->
ranji matches canceled in assam and tripura due to curfew

CAB के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन ने खेल पर भी गिराई गाज, रणजी मैच रद्द

  • Updated on 12/12/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) के विरोधस्वरूप प्रदर्शन के कारण कर्फ्यू लगाये जाने की वजह से गुवाहाटी (Guwahati ) और अगरतला (Agartala) में रणजी ट्राफी  (Ranji trophy) मैचों के चौथे दिन का खेल रद्द कर दिया गया। मेजबान असम की टीम सेना खेल नियंत्रण बोर्ड से और त्रिपुरा की टीम झारखंड से खेल रही थी।

CAB के विरोध में जल उठा पूर्वोत्तर, अनिश्चिकाल के लिए कर्फ्यू

प्रदेश संघ ने दी न खेलने की सलाह
बीसीसीआई महाप्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम ने कहा, 'प्रदेश संघ ने हमें नहीं खेलने की सलाह दी है। खिलाडियों को होटल में रहने के लिये कहा गया है। खिलाडियों की सुरक्षा सर्वोपरि है।' उन्होंने कहा,'यह मैच फिर खेला जायेगा या अंक बांटे जायेंगे, इस बारे में बाद में फैसला लिया जायेगा।’’

#CAB के विरोध में उबला पूर्वोत्तर, ट्रेनों के साथ-साथ उड़ानें भी रद्द

कर्फ्यू के कारण गुवाहाटी में भी आईएसएल मैच स्थगित
सीएबी (CAB) विरोध प्रदर्शन के कारण गुवाहाटी में भी कर्फ्यू लगने की वजह से नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी और चेन्नइयिन एफसी के बीच इंडियन सुपर लीग फुटबाल का मैच अनिश्चित काल के लिये स्थगित कर दिया गया। यह मैच इंदिरा गांधी एथलेटिक्स स्टेडियम में खेला जाना था।

प्रशंसकों और स्टाफ की सुरक्षा सर्वोपरि
आईएसएल ने एक बयान में कहा, "गुवाहाटी में कफ्र्यू के कारण नार्थईस्ट युनाइटेड और चेन्नइयिन एफसी के बीच आईएसएल का मैच आगामी सूचना तक स्थगित कर दिया गया है।" इसमें कहा गया ,"पिछले 48 घंटे से हम लगातार अधिकारियों के संपर्क में है।

हम होटल से बाहर नहीं जा सकते, यहां हालात अच्छे नहीं- टीम अधिकारी
खिलाडियों, प्रशंसकों और स्टाफ की सुरक्षा सर्वोपरि है और उसी की वजह से यह फैसला लिया गया।" दोनों टीमों ने बुधवार को अभ्यास नहीं किया और मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस भी रद्द कर दी गई। नार्थईस्ट युनाइटेड के एक टीम अधिकारी ने कहा ,‘‘ हम इस समय होटल से बाहर नहीं जा सकते हैं । यहां हालात अच्छे नहीं है ।’  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.