14 दिन की हिरासत में 'रावण', गिरफ्तारी के पीछे गर्लफ्रेंड का हाथ

  • Updated on 6/9/2017

Navodayatimes

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सहारनपुर हिंसा मामले में भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। रावण की गिरफ्तारी गुरुवार सुबह करीब 10.30 बजे हिमाचल के डलहौजी से हुई है। वहीं, पुलिस सूत्रों का कहना है कि रावण की गिरफ्तारी में उसकी गर्लफ्रेंड की अहम भूमिका रही है।

सुनील ग्रोवर के बेटे ने बनाया ऐसा रावण जो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

बता दें कि सहारनपुर हिंसा के बाद चंद्रशेखर गायब था, लेकिन सोशल मीडिया के जरिए वो अपने समर्थकों के संपर्क में था। हालांकि पुलिस ने कई बार रावण को ट्रेस करने की कोशिश कीं, लेकिन वह नाकाम रही। 

इसके बाद पुलिस को जानकारी मिली की कि सहारनपुर में चंद्रशेखर की एक गर्लफ्रेंड भी है, जिसके बाद पुलिस ने चंद्रशेखर को पकड़ने के लिए एक प्लान तैयार किया और उसकी गर्लफ्रेंड से मुलाकात की। पुलिस के कहने पर चंद्रशेखर की गर्लफ्रेंड ने उससे संपर्क साधा और मिलने की बात कही। इसके बाद पुलिस ने डलहौजी में चंद्रशेखर को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूम रहा था। सूत्र का कहना है कि पुलिस ने इस पूरे ऑपरेशन को गुप्त रखा था। यहां तक कि हिमाचल पुलिस को भी इसकी जानकारी नहीं दी गई।

सोशल मीडिया पर इस रावण को मार आप भी कहें... #HappyDussehra

भीम आर्मी का पूरा नाम 'भीम आर्मी भारत एकता मिशन' है। पहली बार अप्रैल 2016 में हुई जातीय हिंसा के बाद भीम आर्मी सुर्खियों में आई थी। दलितों के लिए लड़ाई लड़ने का दावा करने वाले चंद्रशेखर की भीम आर्मी से आसपास के कई दलित युवा जुड़ गए हैं। यूपी सहित देश के सात राज्यों में फैली इस संस्था में करीब 40 हजार सदस्य जुड़े हुए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.