ravidas-mandir-issue-hardeep-puri-lg

रविदास मंदिर मामले पर गरमाई राजनीति, हरदीप पुरी LG से मिले

  • Updated on 8/14/2019

नई दिल्ली, 13 अगस्त (नवोदय टाइम्स) : तुगलकाबाद वनक्षेत्र में रविदास मंदिर (Ravidas mandir) को तोड़े जाने पर अब जमकर राजनीति शुरू हो गई है। नौबत यह है कि डीडीए (DDA) ने जहां इस मामले में सोमवार को ही सफाई दी, उसके बावजूद केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी (hardeep singh puri) ने एलजी अनिल बैजल (Anil Baijal) को मिलकर पूरे मामले की वास्तविकता से अवगत कराया। साथ ही कहा कि केंद्र कोई समाधान निकालने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। वहीं भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने भी मंत्री से इस मामले में त्वरित उचित कार्रवाई की मांग की है।

15 अगस्त से दिल्ली सरकार महिलाओं की मुफ्त यात्रा स्कीम को कर सकती है लागू
 
दरअसल दस अगस्त को डीडीए ने तुगलकाबाद के जहांपनाह वनक्षेत्र में बने हुए रविदास मंदिर को ध्वस्त कर दिया था। डीडीए ने इस निर्माण को अवैध बताते हुए कोर्ट के आदेश पर कार्रवाई करने का दावा किया था। इसके बाद शुरुआत में विश्व हिन्दू परिषद की तरफ से रविवार को इस मंदिर को ढहाने के लिए दिल्ली सरकार की आलोचना भी की गई। लेकिन असल में मामला उस समय तूल पकड़ गया जब दिल्ली सरकार की ओर से रविदास मंदिर को तोडऩे का आरोप केंद्र व डीडीए पर मढ़ा गया। इसके बाद ट्वीट भी किया गया। 

जम्मू-कश्मीर: 15 अगस्त को श्रीनगर में झण्डा नहीं फहराएंगे शाह, कश्मीर जाने का भी नहीं है कोई प्लान

मंत्री ने भी मंगलवार को न केवल ट्वीट के जरिए सफाई दी, बल्कि एलजी अनिल बैजल से भी मुलाकात कर उन्हें आश्वस्त किया है कि डीडीए के साथ मिलकर वह रविदास मंदिर के मसले का उचित समाधान निकालेंगे और मंदिर निर्माण के लिए वैकल्पिक स्थल की पहचान भी करने को प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने एलजी को बताया कि कोर्ट के आदेश पर ही डीडीए ने ध्वस्तीकरण की कार्रवाई को अंजाम दिया। मंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि हम दिल्ली विकास प्राधिकरण  के उपाध्यक्ष के साथ कोई समाधान ढूंढने और एक ऐसे स्थल की पहचान करने को प्रतिबद्ध हैं जहां मंदिर पुन:स्थापित किया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.