Wednesday, Oct 05, 2022
-->
raw-material-prices-increased-due-to-russia-ukraine-war-builders-panicked

रूस यूक्रेन युद्ध से बढे कच्चे माल के दाम, बिल्डर घबराए, बोले यही हाल रहा काम धंधा ठप्प हो जाएगा

  • Updated on 3/24/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल।  रूस यूक्रेन युद्दे के चलते अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में उछाल की वजह से कच्चे माल के दाम में हो रही वृद्धि का हवाला देते हुए बिल्डरों ने निर्माण कार्य को जारी रखने पर असमर्थता जताई है। गाजियाबाद के रियल स्टेट डेवलर्प का प्रतिनिधित्व करने वाली क्रेडाई गाजियाबाद के अध्यक्ष विपुल गिरी का कहना है कि संस्था कच्चे माल की खरीद और निर्माण को पूरी तरह रोकने पर विचार कर रही है। लगातार बढती लागात से बिल्डरों का नुकसान बढता जा रहा है। डर है कि इन बढी हुई लागातों के चलते परियोजनाएं ठप्प ही ना हो जाएं। 

उन्होंने बताया कि वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला व्यवधानों के बीच निर्माण में किए जाने वाले प्रमुख कच्चे माल जैसे स्टील, सीमेंट की लागत बढ गई है। कोविड के बाद मौजूदा संकट रियल एस्टेट डेवलेपर्स पर दोहरा झटका है। इससे उन्होंने अपने प्रोजेक्टस को अनुमानित लागात व समय पर पूरा ना कर पाने का खतरा मंडरा रहा है। खासतौर स्टील के मामले में हालात ऐसे हैं कि आपूर्तिकर्ता ऊंची कीमत पर भी माल देने को तैयार नहीं हैं। 

विपुल गिरी ने बताया कि मार्च 2022 तक 5 सौ रूपए प्रतिवर्ग फीट या उससे अधिक निर्माण लागात बढ सकती है जिसका सीधा असर मकान की कीमतों पर होगा। इसके अलावा उन्होंने एक अपील भी की। उन्होंने कहा कि जो फ्लैट या मकान अभी तक बेचे नहीं जा सके हैं। उनके दाम बढाना बिल्डर के हाथ में है। लेकिन जो संपत्तियां बिक चुकी हैं। उनके दाम के साथ यह स्वतंत्रता नहीं है। इसलिए डेवलपर्स को यह इजाजत दी जाए कि वह बेची गई संपत्तियों पर भी बढी हुई दरों को लागू कर सकें। वरना पहले की तरह अधूरे प्रोजेक्ट की एक नई श्रृंखला तैयार हो जाएगी। उन्होंने बंद पड़े प्रोजेक्ट को तैयार करने में समय सीमा बढाने की भी मांग की। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.