Thursday, Jul 29, 2021
-->
rbi report estimates banks npa may reach 13 percnet by september 2021 rkdsnt

2021 में भी बैंकों के NPA को लेकर अलर्ट करने वाली है RBI की रिपोर्ट

  • Updated on 1/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बैंकों का सकल एनपीए (NPA) यानी फंसा कर्ज तुलनात्मक आधार पर सितंबर 2021 तक बढ़कर 13.5 प्रतिशत पर पहुंच सकता है जो सितंबर 2020 में 7.5 प्रतिशत था। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट (FSR) में यह कहा गया है।

स्मृति ईरानी मामले में अब 16 जनवरी को होगी सुनवाई, वर्तिका ने लगाए हैं पैसे मांगने के आरोप

रिपोर्ट के अनुसार अगर वृहत आॢथक माहौल और खराब होता है और गंभीर दबाव की स्थिति उत्पन्न होती है, तो सकल एनपीए अनुपात 14.8 प्रतिशत तक जा सकता है। वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘दबाव की स्थिति के विश्लेषण से यह संकेत मिलता है कि सभी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों का सकल एनपीए तुलनात्मक आधार पर सितंबर 2020 में 7.5 प्रतिशत से बढ़कर सितंबर 2021 तक 13.5 प्रतिशत हो सकता है।’’  

केजरीवाल ने AAP विधायक पर स्याही फेंकने के मामले में CM योगी पर साधा निशाना

बैंक समूह में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का सकल एनपीए अनुपात सितंबर 2020 में 9.7 प्रतिशत था जो सितंबर 2021 में 16.2 प्रतिशत पर पहुंच सकता है। वहीं निजी क्षेत्र और विदेशी बैंकों का सकल एनपीए अनुपात 4.6 प्रतिशत और 2.5 प्रतिशत से बढ़कर क्रमश: 7.9 प्रतिशत और 5.4 प्रतिशत हो सकता है।

किसान आंदोलन : सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर

वृहद आर्थिक माहौल और बिगडऩे या दबाव बढऩे पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, निजी बैंकों और विदेशी बैंकों का सकल एनपीए सितंबर 2021 तक बढ़कर क्रमश: 17.6 प्रतिशत, 8.8 प्रतिशत और 6.5 प्रतिशत हो सकता है। इसमें कहा गया है, ‘‘सकल एनपीए अनुपात का यह अनुमान बैंक के पोर्टफोलियो के मूल्य में कमी का संकेत है....।’’ 

कृषि कानूनों को लेकर इनेलो विधायक चौटाला ने भाजपा सरकार पर बढ़ाया दबाव

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.