Sunday, Apr 18, 2021
-->
Red Fort Violence Decision on Deep Sidhu plea seeking impartial inquiry secured KMBSNT

Red Fort Violence: दीप सिद्धू की निष्पक्ष जांच की मांग वाली याचिका पर फैसला सुरक्षित

  • Updated on 2/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली के लाल किले पर ट्रैक्टर रैली की आड़ में हुई हिंसा (Red Fort Violence) के और धार्मिक झंडा फहराने के मामेले में मुख्य आरोपी दीप सिद्धू (Deep Sidhu) ने कोर्ट में निष्पक्ष जांच की मांग की याचिका दायर की है। इस याचिका पर आज शाम 4 बजे तक के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया गया है।

— ANI (@ANI) February 26, 2021

इस मामले की सुनवाई के दौरान दीप सिद्धू के वकील ने दिल्ली कोर्ट को बताया कि वह 26 जनवरी को लाल किले पर लोगों को शांत करने में पुलिस की मदद कर रहे थे, उस दिन के लाल किले के सीसीटीवी फुटेज को संरक्षित करना चाहते हैं। दीप सिद्धू के वकील ने अदालत को बताया कि वह 26 जनवरी को दिल्ली में हिंसा शुरू होने पर दोपहर 12 बजे तक मुरथल में थे।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही दीप सिद्धू के अकाउंट से उसकी बेगुनाही साबित करने के लिए एक वीडियो जारी किया गया था। इसमें दावा किया जा रहा है कि दीप सिद्धू ने किसान आंदोलन के दौरान कोई भड़काऊ भाषण नहीं दिया। जबकि पुलिस ने असली गुनाहगार को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल की सुरक्षा से हटाए गए चार कमांडो पर गृह मंत्रालय ने दी सफाई

वीडियो में दीप सिद्धू ने खुद को निर्दोष बताया
दरअसल, फेसबुक अकाउंट पर अपलोड किया गया है। इस वीडियो में दीप सिद्धू ने खुद को निर्दोष बताया है और किसान नेताओं के भड़काऊ भाषण दिखाए हैं। इस वीडियो में दीप सिद्धू प्रदर्शनकारियों को समझाता हुआ दिखाई दे रहा है। वीडियो में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत, किसान नेता गुरनाम चढ़ूनी और एक लाख के इनामी एक्टिविस्ट लखबीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना का भड़काऊ भाषण है।

वीडियो में किसान नेता राकेश टिकैत पुलिस को धमकी देते दिखे
वीडियो में किसान नेता राकेश टिकैत का बयान है, जिसमें वो ट्रैक्टर रोकने पर दिल्ली पुलिस को धमकी देते नजर आ रहे हैं। गैंगस्टर से सोशल एक्टिविस्ट बना लक्खा सिधाना वीडियो में ट्रैक्टर परेड का तय रूट तोडऩे की ओर इशारा कर रहा है। वह कह रहा है कि हमारे ट्रैक्टर भी रिंग रोड की ओर जाएंगे। कीर्ति किसान संगठन के राजिंदर सिंह दीप वीडियो में कहते दिख रहे हैं कि 26 जनवरी को सारे ट्रैक्टर नाकों पर खड़े कर दो और इस दिन मोदी की चर्चा न हो, बल्कि मोदी की गर्दन पर ट्रैक्टर चढऩे की चर्चा हो।

वहीं, हरियाणा के किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी इस वीडियो में सरकार को चेतावनी देते नजर आ रहे हैं। वो कह रहे हैं कि 26 तारीख को अपनी तैयारी कर ट्रैक्टरों के साथ आ जाएं। जबरदस्ती बैरिकेड्स तोड़कर दिल्ली में घुसेंगे। सरकार गोली मारे-लाठी मारे, जो करना है कर ले। 26 को फाइनल मैच होगा।

लक्खा सिंह का पुलिस को ओपन चैलेंज- रैली करने आ रहा हूं दिल्ली

दीप सिद्धू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत
दीप सिद्धू को दो दिन पहले यानी 23 फरवरी को ही 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। ऐसे में सवाल उठता है कि जब वो जेल में है तो उसके सोशल मीडिया अकाउंट से वीडियो कैसे अपलोड हो रहा है? हालांकि, इस बारे में पहले ही दिल्ली पुलिस खुलासा कर चुकी है कि ट्रैक्टर परेड हिंसा के बाद दीप के सोशल मीडिया अकाउंट पर अमेरिका से वीडियो अपलोड किए जा रहे थे। यह काम यहां उसकी एक महिला मित्र कर रही थी। गिरफ्तारी से पहले भी दीप सिद्धू ने वीडियो जारी किया था। इसमें उसने कहा था कि वह सोशल मीडिया पर ऐसी जानकारियां दे सकता है, जो किसान नेताओं के लिए परेशानी खड़ी कर देंगी।

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.