Monday, Sep 27, 2021
-->
reforms in telecom will enable industry to invest boldly, sunil mittal rkdsntt

दूरसंचार क्षेत्र में सुधारों से उद्योग साहसिक तरीके से निवेश करने में सक्षम होगा : सुनील मित्तल

  • Updated on 9/16/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ने बुधवार को कहा कि दूरसंचार क्षेत्र के लिए घोषित बड़े सुधारों से उद्योग अब बिना किसी डर के साहसिक तरीके से निवेश करने में सक्षम होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निवेश और देश की वृद्धि में तेजी लाने के आह्वान पर एयरटेल सकारात्मक प्रतिक्रिया देगी। दबाव से जूझ रहे दूरसंचार क्षेत्र के लिए राहत के कई कदमों के बीच मंत्रिमंडल ने आज सकल समायोजित राजस्व (एजीआर) की परिभाषा को युक्तिसंगत बनाते हुए इसमें से दूरसंचार क्षेत्र से इतर होने वाली आय को हटा दिया गया है। सरकार को संभावित रूप से दी जाने वाली देय राशि पर दंड को भी हटा दिया है।  

पीएम मोदी ने साझा की अलीगढ़ से जुड़ी अपनी पुरानी यादें

उन्होंने दूरसंचार क्षेत्र को दबाव से निकालने के लिए इन मौलिक सुधारों को शुरू करने को लेकर सरकार का धन्यवाद किया और बधाई भी दी।       मित्तल ने एक बयान में कहा, ‘‘ मंत्रिमंडल द्वारा उठाये गए सुधार के कदम यह सुनिश्चित करते हैं कि उद्योग बिना डरे निवेश करने और भारत की डिजिटल महत्वाकांक्षाओं का समर्थन करने में सक्षम होगा। हम दूरसंचार मंत्री और वित्त मंत्री को उनके नेतृत्व और समर्थन के लिए भी बधाई देते हैं।’’  

 जावेद अख्तर मानहानी मामले में कोर्ट ने कंगना रनौत को दी वारंट जारी करने की चेतावनी

    सरकार ने राहत पैकेज में दूरसंचार कंपनियों के ऊपर सांविधिक बकाये के भुगतान पर चार साल के मोहलत दी है।       एयरटेल के चेयरमैन ने कहा, ‘‘भारती एयरटेल भारत के विकास में निवेश करने और उसमें तेजी लाने के लिए प्रधानमंत्री के आह्वान का जवाब देने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। यह 100 करोड़ से अधिक भारतीयों की डिजिटल आकांक्षाओं के रूप में डिजिटल बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए जीवन में एक बार आने वाला अवसर है।’’

डीएमआरसी मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उत्साह में अनिल अंबानी

     भारती एयरटेल ने कहा कि यह सुधार पैकेज भारतीय दूरसंचार उद्योग के लिए एक नई सुबह की शुरुआत करता है। इन कदमों से इस महत्वपूर्ण क्षेत्र के जोरदार वृद्धि को बल मिलेगा।       एयरटेल ने कहा, ‘‘यह साहसिक कदम 1999 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार द्वारा लिए गए निर्णयों की याद दिलाता है। उसके बाद ही देश में मोबाइल सेवाओं का दौर शुरू हुआ था।       भारती एयरटेल भारत और दक्षिण एशिया के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) गोपाल विट्टल ने कहा, ‘‘ये नए सुधार इस रोमांचक डिजिटल भविष्य में निवेश करने के हमारे प्रयासों को और बढ़ावा देंगे।’’   

सांसद प्रिंस राज के बचाव में उतरी LJP, कहा- हनी ट्रैपिंग के मामले भी होते हैं

 

 

 

comments

.
.
.
.
.