Friday, Dec 09, 2022
-->
reliance expects further hike in gas prices, demand for removal of price cap

रिलायंस को गैस कीमतों में और बढ़ोतरी की उम्मीद, मूल्य सीमा हटाने की मांग

  • Updated on 7/24/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को देश में प्राकृतिक गैस की कीमतें अक्टूबर में फिर बढऩे की उम्मीद है। हालांकि, इसके साथ ही कंपनी कीमतों पर लगाई गई अधिकतम सीमा (सीलिंग) को हटाने के पक्ष में भी है। कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (खोज एवं उत्पादन) संजय रॉय ने तिमाही नतीजों की घोषणा के बाद एक निवेशक चर्चा में कहा कि केजी-डी6 बेसिन से उत्पादित गैस की मूल्य सीमा 9.92 डॉलर प्रति मिलियन ब्रिटिश थर्मल यूनिट (एमएमबीटीयू) के मौजूद स्तर से अधिक हो जाएगी।   

अमित शाह की अपील- 13 अगस्त से 15 अगस्त के बीच घरों में फहराएं तिरंगा

  सरकार हर छह महीने में अंतरराष्ट्रीय कीमतों के आधार पर गैस का दाम तय करती है। कई तिमाहियों तक घाटे में रहने के बाद रिलायंस का गैस खोज कारोबार ऊर्जा की कीमतों में वैश्विक स्तर पर आए उछाल से लाभ में आना शुरू हुआ है।       एक अप्रैल से पुराने या विनियमित क्षेत्रों से गैस की कीमत दोगुनी से भी अधिक 6.1 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू या प्रति इकाई हो गई है। वहीं गहरे समुद्र में स्थित गैस क्षेत्रों से निकलने वाली गैस के लिए कीमत 9.92 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू रखी गई है।   

AAP ने पीएम मोदी पर लगाया पौधारोपण कार्यक्रम हाईजैक करने का आरोप

  इस तरह अक्टूबर के महीने में नई दरों को जारी किया जाना है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि सरकारी तेल एवं गैस कंपनी ओएनजीसी के पुराने क्षेत्रों से निकली गैस की कीमत लगभग नौ डॉलर प्रति एमएमबीटीयू तक बढ़ जाएगी और मुश्किल क्षेत्रों वाली गैस के लिए मूल्य सीमा दहाई अंक तक पहुंच जाएगी।   

CJI रमण ने किया साफ- मीडिया द्वारा संचालित कंगारू अदालतें लोकतंत्र के लिए हानिकारक

  रिलायंस ने अप्रैल-जून तिमाही में पूर्वी तट पर स्थित केजी-डी6 ब्लॉक में अपने नए क्षेत्रों से प्रतिदिन लगभग 1.9 करोड़ घन मीटर गैस का उत्पादन किया। यह ब्लॉक गहरे समुद्र में स्थित है। लिहाजा यहां से निकलने वाली गैस मुश्किल इलाकों वाली कीमतों पर बिकती है। रिलायंस के वरिष्ठ अधिकारी रॉय ने कहा, ‘‘केजी-डी6 के लिए मूल्य सीमा को अप्रैल-सितंबर, 2022 के लिए 9.92 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू किया गया है और अक्टूबर 2022-मार्च 2023 के लिए इसमें और बढ़ोतरी होने की उम्मीद है।’’   

नड्डा, खट्टर से कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई ने की मुलाकात

  •  

  हालांकि, रॉय ने कहा कि घरेलू कीमतों का वैश्विक कीमतों से तारतम्य नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘घरेलू कीमतें असंबद्ध ही रहती हैं, चाहे वैश्विक कीमतें चढ़ी हों या गिरी हुई हों। हम गैस कीमतों की सीङ्क्षलग को हटाने की मांग जारी रखेंगे। हमें आने वाली तिमाहियों में ऊंची गैस कीमतों की उम्मीद है।’’  रिलायंस को मध्य प्रदेश के ब्लॉकों से कोयला सीम (सीबीएम) से पैदा होने वाली 0.7 एमएमएससीएमडी गैस के लिए 22.48 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू की कीमत मिली। वैसे सीबीएम गैस की कीमत पर कोई सीमा नहीं रहती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.