Tuesday, Sep 27, 2022
-->
reliance-industries-net-profit-increased-by-22-5-percent-jio-also-benefited-rkdsnt

रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध लाभ 22.5 प्रतिशत बढ़ा, जियो में भी फायदा

  • Updated on 5/6/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) का एकीकृत शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में 22.5 प्रतिशत बढ़कर 16,203 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में बताया कि तेल शोधन मार्जिन में मजबूती, दूरसंचार और डिजिटल सेवाओं में निरंतर वृद्धि तथा खुदरा कारोबार में मजबूत गति से कंपनी का लाभ बढ़ा है।  

तेजिंदर बग्गा को बचाने के लिए भाजपा का असली चेहरा देश के सामने आया- आतिशी

तेल से लेकर दूरसंचार क्षेत्र में कारोबार करने वाली कंपनी का वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी-मार्च तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 13,227 करोड़ रुपये था। पूरे वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध लाभ बढ़कर 60,705 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वहीं आय बढ़कर 7.92 लाख करोड़ रुपये (102 अरब डॉलर) हो गई। रिलायंस इंडस्ट्रीज सौ अरब डॉलर सालाना आय वाली पहली भारतीय कंपनी बन गयी है।

तिरंगा यात्राओं के बाद शाखाएं लगाएगी आम आदमी पार्टी : संजय सिंह

रिलायंस जियो का शुद्ध लाभ चौथी तिमाही में 24 प्रतिशत बढ़ा
रिलायंस इंडस्ट्रीज की इकाई रिलायंस जियो का शुद्ध लाभ मार्च 2022 को समाप्त चौथी तिमाही में करीब 24 प्रतिशत बढ़कर 4,173 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि एक साल पहले इसी तिमाही में शुद्ध लाभ 3,360 करोड़ रुपये था। वित्त वर्ष 2021-22 की जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी की एक एकल आधार पर परिचालन आय 20 प्रतिशत बढ़कर 20,901 करोड़ रुपये रही जो एक साल पहले इसी तिमाही में 17,358 करोड़ रुपये थी। 

बग्गा प्रकरण को लेकर दिल्ली भाजपा ने बोला पंजाब पुलिस और केजरीवाल पर हमला

 रिलायंस जियो का 31 मार्च, 2022 को समाप्त वित्त वर्ष में एकीकृत शुद्ध लाभ करीब 23 प्रतिशत बढ़कर 14,854 करोड़ रुपये रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2020-21 में 12,071 करोड़ रुपये था। कंपनी की परिचालन आय 2021-22 में करीब 10.3 प्रतिशत बढ़कर 77,356 करोड़ रुपये पहुंच गयी जो एक साल पहले 70,127 करोड़ रुपये थी।     

यूपी की BJP सरकार को मिल रहा महिला आयोग की ओर से सर्वाधिक नोटिस : अखिलेश  

 

comments

.
.
.
.
.