Saturday, Feb 29, 2020
republic day 2020 goa and jammu kashmir tableau

गणतंत्र दिवस झांकियां: गोवा ने 'मेंढक बचाओ' तो जम्मू-कश्मीर ने 'गांव की ओर लौटो' का दिया संदेश

  • Updated on 1/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) के भव्य राजपथ (Rajpath) पर आज 71वें गणतंत्र दिवस (71th Republic Day) समारोह में विभिन्न राज्यों और मंत्रालयों की 22 झांकियों के जरिए देशवासियों को अलग-अलग संदेश दिए गए। गोवा (Goa) ने जहां 'मेंढक बचाओ' का संदेश दिया वहीं जम्मू-कश्मीर (Jammu And Kashmir) ने 'गांव की ओर लौटो' कार्यक्रम से लोगों को अवगत कराया। वहीं पंजाब (Punjab) की झांकी गुरु नानक देव (Guru Nanak dev) के 550वें प्रकाश पर्व (Prakash Parv) के नाम रही।

Republic day: राष्ट्रगान के साथ हुआ परेड का समापन, PM Modi ने किया लोगों का अभिवादन

जम्मू-कश्मीर की 'गांव की ओर लौटो' की पहली झांकी
केन्द्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू-कश्मीर की यह पहली झांकी थी, जो कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandits) के लिए शुरू किए गए कार्यक्रम 'गांव की ओर लौटो' के नाम रही।

आज राजपथ पर राष्ट्रपति फहराएंगे तिरंगा, चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा

जयपुर की विरासत को दर्शाती राजस्थान की झांकी
इन 22 झांकियों में 16 झांकियां विभिन्न राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश की थी और अन्य छह मंत्रालयों, विभागों और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की थी। यूनेस्को विश्व धरोहर द्वारा 2019 में जयपुर (Jaipur) को 'वॉल्ड सिटी ऑफ जयपुर' का दर्जा दिए जाने के बाद इस बार इसे राजस्थान (Rajasthan) की झांकी में दिखाया गया। इसमें जयपुर की सांस्कृतिक विरासत के साथ ही उसकी वास्तुशिल्प भव्यता को दिखाया गया।

Republic Day पर शाहीन बाग में दिखा प्रदर्शनकारियों का जोश

झांकी ने दर्शाई राज्यों की सांस्कृतिक विरासत
गुरु नानव देव के 550वें प्रकाश पर्व के जश्न ने पंजाब की झांकी को खास बना दिया, जो इस बार उनकी थीम रही। वहीं गुजरात (Gujarat) की झांकी में 'रानी की वाव' को केन्द्र बनाया गया। यूनेस्को ने 2014 में 'रानी की वाव' को विश्व धरोहर का दर्जा दिया था। 'रानी की वाव' भारत (India) के गुजरात राज्य के पाटण में स्थित प्रसिद्ध बावड़ी है। इनके अलावा छत्तीसगढ़, तमिलनाडु, तेलंगाना, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, गोवा, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक राज्य की झांकियां भी यहां दिखीं। इस बीच, एनडीआरएफ की झांकी ने भी सबको आकर्षित किया। इसमें राष्ट्रीय आपदा मोचन बल द्वारा बाढ़ प्रभावित इलाकों में बचाव कार्य के दौरान और दिल्ली की अनाज मंडी (Anaz Mandi) में आग लगने के दौरान पिछले साल इस्तेमाल की गई अत्याधुनिक तकनीक और उपकरणों का प्रदर्शन किया गया।

CAA विरोध के बीच गणतंत्र दिवस के रंग में रंगा शाहीन बाग, फहराया गया तिरंगा

ब्राजील के राष्ट्रपति की मौजूदगी में भारत ने मनाया 71वां गणतंत्र दिवस
राजपथ पर देश के भव्य इतिहास, विशाल संस्कृति, हथियारों के प्रदर्शन के बीच रविवार को 71वें गणतंत्र दिवस का जश्न मनाया गया। ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो भारत के 71वें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि थे, जिन्होंने राजपथ पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अन्य नेताओं के साथ भव्य परेड का आनंद उठाया। इससे पहले 1996 और 2004 में ब्राजील के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बन चुके हैं। इस वर्ष समारोह में कई चीजें पहली बार हुईं। इसमें प्रधानमंत्री का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित करना भी शामिल है। मोदी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति के बजाय पहली बार यहां नवनिर्मित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।

 

comments

.
.
.
.
.