Wednesday, Jan 19, 2022
-->
republic-day-2021-ceremony-at-rajpath-in-corona-era-changes-happen-for-the-first-time-prshnt

Republic Day 2021: जानें कोरोना काल में कैसा होगा राजपथ पर समारोह, पहली बार हुए ये बदलाव

  • Updated on 1/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कल भारत में 72वां गणतंत्र दिवस (Republic Day 2021) मनाया जाएगा, जिसके लिए राजपथ पर परेड का आयोजन किया गया है। इस बार कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के कारण इस ऐतिहासिक दिन के आयोजन में ना चाहते हुए भी कई बदलाव किए गए हैं। आम तौर पर इस दिन भारतीय सैन्य बलों और भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की झांकियां और परेड होती है, और इस आयोजन का लुफ्त उठाने करीब एक लाख लोग शिरकत करते हैं। लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण आयोजन में काफी बदलाव किया गया है। ध्वजारोहण का कार्यक्रम 26 जनवरी मंगलवार को सुबह 8 बजे होगा।

इस बार परेड में 18 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश के साथ मंत्रालयों की झांकी भी होगी। उत्तर प्रदेश की झांकी में राममंदिर, दीपोत्सव और रामायण की विभिन्न घटनाओं की झलक देखने को मिलेगी।

ममता के नंदीग्राम से चुनाव लड़ने के क्या हैं 'मायने', क्या TMC को इससे होगा फायदा?

समारोह में सिर्फ 25,000 लोग होंगे शामिल
वहीं पिछले साल 150,000 के मुकाबले इस साल समारोह में सिर्फ 25,000 लोग ही शामिल होंगे। ऐसे में मीडिया प्रतिनिधियों की संख्या को 300 से घटाकर 200 तक कर दी गई है। इसके साथ ही 15 साल से कम उम्र के बच्चों को उपस्थित होने की परमिशन नहीं दी जाएगी। इस साल गणतंत्र दिवस परेड राष्ट्रपति भवन से शुरू होकर विजय चौक से राजपथ, अमर जवान ज्योति, इंडिया गेट प्रिंसेस पैलेस, तिलक मार्ग से होते हुए आखिर में इंडिया गेट तक जाएगा।

अखिलेश यादव बोले, किसानों के साथ षड्यंत्र कर रही है भाजपा, आजादी खतरे में

इस बार नहीं होगा कोई अतिथि
सबसे बड़ी बात है कि 50 सालों में पहली बार होगा कि गणतंत्र दिवस के मौके पर इस साल कोई चीफ गेस्ट नहीं होगा। दरअसल शुरू में ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को भारत आने के लिए आमंत्रित किया गया था, लेकिन ब्रिटेन में कोविड-19 के एक नए स्ट्रेन के बढ़ते प्रकोप के चलते उन्हें अपनी यात्रा रद्द करना पड़ा। बता दें कि इससे पहले भारत के पास 1952, 1953 और 1966 में परेड के लिए भी मुख्य अतिथि नहीं थे।

Corona Vaccination: तेजी से आगे बढ़ रहा टीकाकरण अभियान, अब तक करीब 16 लाख लोगों को लगा टीका

भव्य राम मंदिर की झलक
इस साल गणतंत्र दिवस परेड में बहुत कुछ नया देखने को मिलेगा। पहली बार परेड में लद्दाख की झांकी देखने को मिलेगी। वहीं भव्य राम मंदिर की झलक, इसके साथ केदारनाथ, सिख गुरू का बलिदान और चांदनी चौक की झांकी भी दिखेगी। वहीं बांग्लादेश सेना का एक सैन्य बैंड भी परेड में भाग लेगा। इस साल, बांग्लादेश ने अपनी स्वतंत्रता की 50 वीं वर्षगांठ मनाई।

साथ ही संस्कृति मंत्रालय, इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय और आईटी, आयुष मंत्रालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय, और रक्षा क्षेत्र से झांकियां निकलेंगी। जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी) की झांकी स्वदेशी रूप से कोविड-19 वैक्सीन के निर्माण के लिए वैज्ञानिकों द्वारा किए गए प्रयासों को प्रदर्शित करेगी।

शशि थरुर ने कांग्रेस को बताया मजबूत विपक्ष, बिशन सिंह बेदी ने कर दिया मुंह बंद

पहली बार परेड में भाग लेंगे राफेल लड़ाकू जेट
पिछले साल भारतीय वायु सेना में शामिल राफेल लड़ाकू जेट, पहली बार परेड में भाग लेंगे और परेड में भारत की पहली महिला फाइटर पायलट भावना कंठ शामिल होगी। फ्लाईपास्ट का समापन इस विमान के वर्टिकल चार्ली फार्मेशन में उड़ान भरने से होगा। इसकी जानकारी भारतीय वायुसेना ने दिया, वर्टिकल चार्ली फार्मेशन में विमान कम ऊंचाई पर उड़ान भरता है, सीधे ऊपर जाता है और उसके बाद कलाबाजी खाते हुए एक ऊंचाई पर स्थिर हो जाता है। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.