Monday, Aug 15, 2022
-->
residents protested against ajna builder by climbing on a bulldozer

निवासियों ने अजनारा बिल्डर के खिलाफ बुलडोजर पर चढक़र किया प्रदर्शन

  • Updated on 6/26/2022

नई दिल्ली,(टीम डिजिटल):दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में अजनारा हाउसिंग सोसायटी के निवासी बिल्डर के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। रविवार को अजनारा होम्स और अजनारा ली गार्डन हाउसिंग सोसायटी के निवासियों ने एक मूर्ति गोल चक्कर पर बुलडोजर पर चढक़र बिल्डर के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन के निवासियों ने अपने हाथों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फोटो लेकर अजनारा बिल्डर के खिलाफ बुलडोजर चलाने की मांग की।

अजनारा होम्स हाउसिंग सोसायटी के निवासियों ने बताया कि यूपी रेरा, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण, जिला प्रशासन और राजनेताओं की अनदेखी के कारण आज वह सडक़ पर हैं। निवासियों को कहना है कि पिछले 85 दिनों से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन चल रहा है, उसके बावजूद भी सभी अधिकारी और जनप्रतिनिधि गहरी नींद में सो रहे हैं। निवासियों ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। यह प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा, जब तक उनको इंसाफ नहीं मिलेगा। लोगों ने अधिकारियों से सवाल पूछते हुए कहा कि आखिरकार बिल्डर की माफिया गिरी पर कब बुलडोजर चलेगा। प्रशासन की नाक के नीचे से बिल्डर ने करोड़ों रुपए लूट लिए हैं, इसका हिसाब जिला प्रशासन कब लेगा। अजनारा गार्डन हाउसिंग सोसायटी के निवासी मुकेश गुप्ता ने बताया कि सत्ताधारी पार्टी के वोटर महीनों से न्याय की आस लगाए बैठे हैं, लेकिन वह अभी भी दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। काफी बार जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों से न्याय की गुहार लगाई गई है, लेकिन किसी के कान पर जूं तक नहीं रेंगती है। 

बिल्डर ने बढ़ाया मेंटेनेंस चार्ज, भडक़े सोसायटी के रेजिडेंट्स
ग्रेनो वेस्ट स्थित  व्हाइट आर्किड सोसायटी के बायर्स का बिल्डर की मनमानी को लेकर गुस्सा एक बार फिर फूट पड़ा। रविवार को लोगों ने मांगों को लेकर सोसायटी के गेट पर बिल्डर के खिलाफ प्रदर्शन किया। लोगों का कहना है कि सोसायटी के एक टावर की अभी तक ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट भी नहीं आई है। लोगों के पूछे जाने पर कि कब रजिस्ट्री होगी तो बिल्डर हर बार झूठा आश्वासन देता है। बिल्डर उनसे मनमाने तरीके से मेंटिनेंस और दूसरी सुविधाओं को देने के लिए अवैध तरीके से मेंटेनेंस चार्जेस वसूल रहा है। इसके अलावा स्विमिंग पूल चार्जेस और जिम चार्जेस के नाम पर हजार रुपए प्रति महीना अलग से वसूल कर रहा है। जब लोगों ने मेंटेनेंस का हिसाब मांगा तो बिल्डर ने उन्हें ऑडिट रिपोर्ट देने से मना कर दिया साथ की उनसे हाथापाई भी की।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.